बिलासपुर। कोटा क्षेत्र में फिर से तेंदुआ नजर आने और बछड़े के शिकार की घटना सामने आने के बाद वन मंडल ने मुनादी करानी शुरू कर दी है। इसके तहत गांव पहुंचकर ग्रामीणों को सतर्क किया गया कि शाम ढलने के बाद घर से बाहर न निकलें। इसके अलावा बैनर-पोस्टर लगाकर भी लोगों को आगाह किया जा रहा है, ताकि जंगल अंदर न जाएं। रास्ते में भी बेवजह नहीं रुके।

बिलासपुर के कोटा क्षेत्र में एक दिन पहले शुक्रवार को तेंदुआ ने एक बछड़े का शिकार किया था। अनाया रिसार्ट के पीछे जोगिया पहाड़ की इस घटना की खबर लगते ही वन मंडल के अधिकारी व कर्मचारियों ने घटनास्थल की जांच की। उन्हें मृत बछड़ा मिला और गले के पास हमले की वजह से जख्म के निशान भी मिले। इसके अलावा आसपास पत्थर व बाल भी मिले हैं। वन विभाग मान रहा है कि दोबारा इस क्षेत्र में तेंदुआ पहुंच चुका है। ऐसे में ग्रामीणों की लापरवाही खतरनाक साबित हो सकती है।

इसलिए विभाग द्वारा शनिवार को दिनभर मुनादी कराई गई। इसके अलावा वनकर्मी चौंकन्ना होने के साथ ही सतत निगरानी भी कर रहे हैं। उन्हें स्पष्ट आदेश है कि पल-पल की गतिविधियों की नजर रखनी है। इसकी रिपोर्ट भी वनमंडलाधिकारी ने देने के लिए कहा है। आवश्यकता पड़ने पर ट्रैप कैमरे लगाने की तैयारी भी वन मंडल कर रहा है। मुनादी के दौरान वनकर्मी खुद लाउडस्पीकर लेकर गांव-गांव घूम रहे और ग्रामीणों बता रहे हैं कि तेंदुआ इस क्षेत्र में हैं। इसलिए लापरवाही बिल्कुल भी न करें। मार्ग पर बेवजह रूकने वाले राहगीरों को सतर्क करने के लिए बैनर-पोस्टर लगाए जा रहे हैं।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local