बिलासपुर। महाप्रभु भगवान जगन्नाथ मंदिर का पट खुल चुका है। मंदिर के पुरोहित और सेवादारों ने विधिवत पूजा अर्चना कर भक्तों के लिए मंदिर का कपाट खोला। जिसके बाद महाप्रभु के दर्शन के लिए तांता लग गया। गुरुवार सुबह से भक्त पुष्प और फल लेकर पहुंच रहे हैं। एक जुलाई यानी कल रथयात्रा (गुंडिचा) है। जिसके लिए लगभग तैयारी पूरी हो चुकी है। महाप्रभु नगर भ्रमण करेंगे।

रेलवे परिक्षेत्र स्थित श्रीश्री जगन्नाथ मंदिर में भव्य रथ सजकर तैयार हो चुका है। मंदिर के पुजारी गोविंद प्रसाद पाढ़ी ने बताया कि देवस्नान पूर्णिमा में महास्नान करने के बाद महाप्रभु जगन्नाथ ज्वर से पीड़ित हो गए थे। 14 दिन बाद अणसार कक्ष (अज्ञातवास) में रहने के बाद बुधवार महाप्रभु के दर्शन हुए। इस दिन को नेत्र उत्सव के रूप में मनाया गया। सुबह नौ बजे मंदिर के ऊपर नया ध्वज पताका लहराया गया। अब एक जुलाई को रथयात्रा (गुंडिचा) निकलेगी। जिसके लिए भव्य रथ का निर्माण किया गया है।

छेरापहरा की रस्म दोपहर एक बजे डा. एपी पटनायक अदा करेंगे। इसके बाद दोपहर दो बजे से रथयात्रा शुरू होगी। रथयात्रा मंदिर से निकलकर तितली चौक से होते हुए रेलवे स्टेशन, गिरजा चौक, तारबाहर, गांधी चौक दयालबंद होते हुए मौसी मां के घर (मंदिर प्रांगण) में पहुंचेगी। वहीं बहुड़ा यात्रा के दिन यह यात्रा ठीक विपरीत दिशा में होगी। भक्त रथ खींचने के साथ महाप्रभु का आशीर्वाद लेंगे। सड़क पर जगह-जगह अभिनंदन होगा। पुष्पवर्षा के साथ भोग प्रसाद का वितरण किया जाएगा।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close