बिलासपुर। पीएससी की रविवार को हुई प्रारंभिक परीक्षा में छत्तीसगढ़ी भाषा से जुड़े व गणित के सवालों ने परीक्षार्थियों को उलझाया। इसमें मवेशी बांधने की रस्सी को छत्तीसगढ़ी में क्या कहा जाता है, भंढ़ई किसे कहते हैं जैसे सवालों ने उन्हें खासा परेशान किया। पीएससी परीक्षा के पूछे गए मैथ्स के सवाल अधिकांश के लिए कठिन थे। वहीं कुछ परीक्षार्थियों को छत्तीसगढ़ी भाषा के प्रश्न ज्यादा उलझाने वाले लगे। कुछ ने ओवरआल ठीक बताया। इस दौरान छत्तीसगढ़ी भाषा के कुछ प्रश्न काफी रोचक रहे।

इसमें पूछा गया था कि जानवरों को बांधने की रस्सी को क्या कहा जाता है, छत्तीसगढ़ी भाषा में भंढ़ई किसे कहते हैं, पति द्वारा त्यागी गई नारी छत्तीसगढ़ी में क्या कहलाती है जैसे प्रश्नों ने सभी के भाषा ज्ञान को परखा। वहीं आंख के अंधे गांठ के पूरे, कान फूंकना, जो कम खर्च करता हो, जनउला, टुकी खेर द्वारे रिहिस जैसे शब्दों के साथ ही लोकोक्तियों और व्याकरण भी रोचक होने के साथ ही कठिन भी थे।

कड़े नियमों के बीच हुआ पर्चा

परीक्षा के दौरान काफी सख्ती रही। परीक्षा हॉल में जाने से पूर्व कड़ाई से जांच की गई। वहीं परीक्षा के दौरान भी काफी सख्ती बरती गई। पूरे अनुशासन के साथ परीक्षा का संचालन किया गया।

मैथ्स लगा कठिन

तेजेंद्र सिंह का कहना है कि मैथ्स के सवाल बेहद कठिन थे। काफी घुमावदार प्रश्न होने से हल करने में समय भी ज्यादा लगा। वहीं अन्य प्रश्न रोचक के साथ ही सरल रहे।

बाकी सभी सरल

कमला चंद्रा का कहना है कि मैथ्स को छोड़कर सभी प्रश्न सरल थे। इसमें छत्तीसगढ़ी भाषा के प्रश्न ज्यादा सरल लगे। इससे पेपर अच्छा बनने से काफी खुशी हुई।

मिला-जुला रहा

अवधेश चंद्रा का कहना है कि परीक्षा काफी अच्छा रहा। कुछ कठिन थे तो कुछ प्रश्न सरल थे। इससे पेपर अच्छा बना।जीएस कठिन थे। अनिवार्य प्रश्न सरल होने से राहत मिली।

डाटाबेस थे उलझाने वाले

जीएस समेत अन्य प्रश्न सरल थे। वहीं डाटाबेस के प्रश्न कठिन लगे। आंकड़े निकालने में समय की कमी का अहसास हुआ।

सभी प्रश्न अच्छे

हेमंत पटेल का कहना है कि सभी प्रश्न अच्छे थे और सरल लगे। इससे काफी अच्छा लगा और प्रश्न पत्र देखते ही खुशी मिली।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket