बिलासपुर। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे बिलासपुर एवं रायपुर मंडल में कार्यरत संरक्षा विभाग के दो रेल कर्मचारियों को उत्कृष्ट कार्य और संभावित दुर्घटना रोकने के लिए सम्मानित किया गया। यह पुरस्कार महाप्रबंधक आलोक कुमार के हाथों दिया गया। पुरस्कार पाते ही कर्मचारियों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। पहला मामला 17 जून को रायपुर रेल मंडल के दाधापारा रेलवे स्टेशन की है। यहां कार्यरत मुख्य वाणिज्य लिपिक पी नागेश के द्वारा 08261 बिलासपुर-रायपुर पैसेंजर अप लाइन संख्या एक से जा रही थी।

पैसेंजर ट्रेन के गुजरते समय ट्रैक से असामान्य आवाज आ रही थी। इस दौरान जांच करने पर रेल फ्रैक्चर पाया गया। जिसकी पहचान कर सजगता एवं सतर्कता का परिचय देते हुए संभावित दुर्घटना को टालने में प्रशंसनीय कार्य किया गया है। इसी तरह 18 जून को बिलासपुर रेल मंडल के नैला यार्ड में कार्यरत मुख्य स्टेशन मास्टर शिवशंकर शर्मा के द्वारा सुबह 07:55 बजे अप लाइन संख्या एक से जा रही मालगाड़ी के ट्रैक से असामान्य आवाज आ रही थी। इस दौरान जांच करने पर रेल फ्रैक्चर मिला।

यह भी पढ़ें:बिलासपुर में सी मार्ट शोरूम में जल्द होगा शुरू,एक ही छत के नीचे मिलेंगे 192 हर्बल उत्पाद

उन्होंने समय पर फ्रैक्चर की पहचान कर ली। यदि इसी स्थिति में ट्रेनें गुजरती तो हादसा हो सकता था। उनकी इस तत्परता की वजह से संभावित दुर्घटना टल गई। इस उत्कृष्ट के लिए अधिकारियों ने दोनों कर्मचारियों को पीठ थपथपाई। इसके अलावा पुरस्कार देने का भी निर्णय लिया गया। संरक्षा से संबंधित अच्छी जानकारी, सजगता, सतर्कता एवं बेहतर संरक्षा कार्य की सराहना करते हुए दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे बिलासपुर महाप्रबंधक आलोक कुमार ने कर्मचारियों को प्रशस्ति-पत्र प्रदान किया।

इस अवसर पर महाप्रबंधक ने पी नागेश कुमार से संवाद भी किया तथा उनके कार्य की जानकारी ली एवं भविष्य में भी बेहतर कार्य करने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने यह भी कहा कि कर्मचारी पूरी ईमानदारी व मेहनत से कार्य करते हैं। इसके चलते जोन की कई उपलब्धियां हासिल की है। इसी तरह सभी कर्मचारियों को कार्य करना चाहिए।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close