बिलासपुर। सभी अपने मूल अधिकारों तथा कानून के प्रति सजग रहें। उक्त बातें शासकीय महाविद्यालय पेंड्रा में छात्र-छात्राओं को कानून तथा न्यायिक विषयों की जानकारी देे हुए विधिक साक्षरता संगोष्ठी में मुख्य अतिथि जिला अपर एवं सत्र न्यायाधीश विनय कुमार प्रधान ने कही। कार्यक्रम में व्यवहार न्यायाधीश राहुल कुमार शर्मा रहे।

कार्यक्रम में प्राचार्य आरआर राजपूत ने संस्था के अंतर्गत आईक्यूएसी एवं नेक समिति के बारे में जानकारी दी। कार्यक्रम का संचालन सहायक प्राध्यापक स्वाति तिवारी ने की।

सहायक प्राध्यापक डा. अतुल तिवारी ने कार्यक्रम के उद्देश्य के बारे में बताया। इस अवसर पर व्यवहार न्यायाधीश राहुल कुमार शर्मा ने अपने उद्बोधन में छात्रों को मार्गदर्शित करते हुए आरटीओ संबंधी नियम कानूनों की जानकारी देते हुए लाइसेंस की अनिवार्यता साथ ही ट्रैफिक नियमों की जानकारी प्रदान करते हुए छात्र छात्राओं को जागरुक किया। साथ ही बाल विवाह संबंधी कानूनों की जानकारी तथा रेवेन्यू और जमीन संबंधी प्राथमिक जानकारियों से अवगत कराया एवं विद्यार्थियों का मार्गदर्शन किया। इस दौरान बताया गया कि नाबालिग को वाहन चलाने नहीं देना चाहिए साथ ही लाइसेंस सहित यातायात के नियमों का पालन करके वाहन चलना चाहिए। शासन के दिए गए निर्देश के पालन करना चाहिए। इस अवसर पर अन्य कानून संबंधी की जानकारी देकर छात्रों को जागरूक किया गया। बताया गया कि विधिक साक्षरता का उद्देश्य लेागों को कानून की जानकारी देना चाहिए।

जिला अपर एवं सत्र न्यायाधीश प्रधान ने विद्यार्थियों को उनके जीवन में काम आने वाले सामान्य से विशिष्ट जानकारियों से अवगत कराते हुए उन्हें उनके अधिकारों के प्रति जागरुक किया।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close