बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

ड्यूटी ऑफ के बाद शालीमार- कुर्ला एक्सप्रेस से रायगढ़ लौट रहे एक मालगाड़ी के गार्ड को बाराती यात्रियों ने बंधक बना लिया। बारातियों ने उसके साथ जमकर मारपीट भी की। इस मामले की सूचना मिलते ही आरपीएफ व जीआरपी में हड़कंप मच गया। आनन- फानन में दोनों सुरक्षा विभाग के जवान प्लेटफार्म पर पहुंचे। इसके बाद यात्रियों के चंगूल से आजाद कराया। इसके साथ ही गार्ड का मुलाहिजा कराने के बाद रिपोर्ट रायगढ़ जीआरपी थाने को भेजी गई। पिटाई से गार्ड को सिर व सीने में गंभीर चोट आई है और वह रायगढ़ अस्पताल में भर्ती है।

जानकारी के अनुसार घटना करीब दो बजे की है। गुड्स ट्रेन गार्ड संतोष कुमार झा (42) का रायगढ़ बुढ़ी माई मंदिर के पास घर है। वह मालगाड़ी लेकर ब्रजराजनगर गया था। वहां ड्यूटी ऑफ होने के बाद रायगढ़ जाने ट्रेन में सफर कर रहे थे। इसी बीच एस-10 कोच में जहां युवती बैठी थी वहां जाकर पर बैठ गया। गार्ड रेलवे के यूनिफार्म में था। लेकिन युवती ने वहां बैठने से मना कर दिया। इसके बाद वह उस कोच से उठकर एस 12 में चला गया। लेकिन इसके कुछ देर बाद युवती के साथ सफर कर रहे डेढ़ दर्जन से अधिक यात्री एस-12 कोच में पहुंच गए और गार्ड के साथ मारपीट शुरू कर दी। मारपीट के दौरान गार्ड का मोबाइल भी गिर गया। इसके कारण उससे संपर्क भी टूट गया। गार्ड को पिटते हुए यात्री वापस एस-10 कोच में ले आए। इसके बाद दोबारा उसके साथ पिटाई करना शुरू कर दी। उस समय तक ट्रेन रायगढ़ नहीं पहुंची थी। बाद में जब घटना की सूचना मिली तो रायगढ़ रेलवे स्टेशन में आरपीएफ व जीआरपी का जमावड़ा लग गया। उन्होंने यात्रियों को समझाने की कोशिश की और गार्ड को उतारने के लिए कहा। लेकिन यात्री इतने आक्रोश में थे कि सुरक्षा अमले की परवाह नहीं की और गार्ड को नहीं छोड़ा। इस स्थिति में ट्रेन वहां से रवाना हो गई। सुरक्षा अमले ने तत्काल इसकी सूचना बिलासपुर कंट्रोल को दी। ट्रेन करीब सुबह 4.20 बजे बिलासपुर पहुंचती है। जानकारी मिली थी कि एक गार्ड को कुछ यात्री, जो मुंबई बारात में जा रहे हैं उन्होंने बंधक बना लिया है। इस पर आरपीएफ व जीआरपी स्टाफ ट्रेन के पहुंचने का इंतजार करने लगे। जैसे ही ट्रेन पहुंची तो सभी एस-10 में पहुंचे। यात्री उन्हें देखकर और हंगामा करने लगे। इस बीच जब उन्हें समझाने की कोशिश की गई तो वह आरपीएफ व जीआपी पर आक्रोश दिखाने लगे। लेकिन सुरक्षा अमला ने सख्ती बरती। जिसके कारण उन्हें गार्ड को छोड़ना पड़ा। पिटाई से गार्ड घायल था। जीआरपी ने उसका मुलाहिजा कराया। इसके बाद उसे घर वापस जाने के लिए छोड़ दिया गया। वहीं मुलाहिजा रिपोर्ट समेत एक जानकारी बनाकर रायगढ़ जीआरपी को भेज दी गई।

छेड़छाड़ या सीट को लेकर मामूली विवाद

खबर तो यह थी कि गार्ड ने छेड़छाड़ की है। जबकि एक जानकारी यह भी मिल रही है कि सीट में बैठने को लेकर विवाद हुआ। गार्ड ने अपना परिचय दिया। लेकिन उसका यहां बैठना यात्रियों को गंवारा नहीं था। बंधक बनाने या मारपीट करने की असली वजह अभी पूरी तरह स्पष्ट नहीं हुई है। इसकी पुष्टि जीआरपी की जांच के बाद पूरी होगी। रायगढ़ जीआरपी मामला पंजीबद्ध कर सही वजह का खुलासा करेगी। बहरहाल घटना के बाद रनिंग स्टाफ में बेहद आक्रोश है। रायगढ़ में तो घटना के बाद गार्ड यूनियन द्वारा आलाधिकारी को शिकायत देकर कड़ी कार्रवाई की मांग करने की कवायद में जुट गए हैं।

कौन होता जिम्मेदार

बाराती यात्रियों ने गार्ड की बड़ी बेरहमी से पिटाई की गई है। जब उसे बिलासपुर में उतारा गया तो वह अधमरा हो चुका था। घटना के बाद ट्रेनों की सुरक्षा व्यवस्था पर प्रश्न चिन्ह लग रहा है। यह सवाल खड़ा हो रहा है कि ट्रेन में आरपीएफ या जीआरपी की पेट्रोलिंग पार्टी क्यों नहीं थी। इसके अलावा जब रायगढ़ में सूचना मिली तो वहां तत्काल सख्ती क्यों नहीं बरती गई। उल्टा सुरक्षा अमला मूकदर्शन बना रहा।

सूचना मिली थी गार्ड द्वारा छेड़छाड़ की गई है। लेकिन सच्चाई क्या है यह तो जीआरपी की जांच के बाद ही पुष्टि होगी। जानकारी मिलने के बाद हमने तत्काल जीआरपी को सूचना दी। इस तरह के प्रकरणों में कार्रवाई का अधिकारी केवल शासकीय रेलवे पुलिस के पास है। इसके मद्देनजर गार्ड को उनके सुपुर्द कर दिया।

आरके शुक्ला

मंडल सुरक्षा आयुक्त, बिलासपुर रेल मंडल

रायगढ़ जीआरपी से सूचना मिली थी कि शालीमार- कुर्ला एक्सप्रेस में एक गार्ड को कुछ यात्रियों ने बंधक बना लिया है और उसके साथ मारपीट भी कर रहे हैं। सुरक्षा के मद्देनजर बिलासपुर में गार्ड को यात्रियों से छुड़वाया। इसके बाद उसका मुलाहिजा कराने के बाद रिपोर्ट तैयार कर रायगढ़ थाने को भेज दिया है।

एएन खटकर

थाना प्रभारी, जीआरपी बिलासपुर

यात्रियों द्वारा मारपीट किए जाने के बाद पुलिस जवान गए थे। लेकिन यात्री गार्ड को लेकर बिलासपुर लेकर चले गए। इस कारण उसे रायगढ़ में उतारा नहीं जा सका।

एमएल यादव

आरपीएफ पोस्ट प्रभारी, रायगढ़