बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

भिलाई स्टील प्लांट में अग्निदुर्घटना की सेवानिवृत्त न्यायाधीश जांच करेंगे। इस संबंध में केन्द्र सरकार ने हाईकोर्ट रजिस्ट्रार जनरल को पत्र लिखा है। इस अग्निकांड में झुलसने से 14 लोगों की मौत हो गई थी।

नौ अक्टूबर 2018 को भिलाई स्टील प्लांट में क्षतिग्रस्त गैस पाइप लाइन को सुधारा जा रहा था। कार्य में लापरवाही करने के कारण गैस पाइप लाइन फटने के साथ भीषण आग लग गई। वहां काम कर रहे 25 कर्मचारियों में से 12 की झुलसने से मौके पर मौत हो गई। दो कर्मचारियों ने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। भीषण अग्निकांड की उच्च स्तरीय जांच समिति का गठन कर जांच कराई गई। समिति ने अपनी रिपोर्ट में इसे आपराधिक लापरवाही बताया। मामले में इसके लिए इंचार्ज सहित प्लांट के अन्य अधिकारियों के खिलाफ पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई गई। भिलाई स्टील प्लांट प्रबंधन ने केन्द्रीय विधि मंत्रालय से अभिमत मांगा था। केन्द्रीय विधि एवं न्याय मंत्रालय ने दुर्घटना की सेवानिवृत्त न्यायाधीश से जांच कराने का सुझाव दिया है। इसके अनुसार केन्द्र सरकार ने छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल को पत्र लिखकर सेवानिवृत्त न्यायाधीश से मामले की जांच कराने सहयोग मांगा है। इस पर रजिस्ट्रार जनरल ने मामले की जांच कराने के इच्छुक सेवानिवृत्त न्यायाधीश को संबंधित कार्यालय के ईमेल या डाक से आवेदन देने अधिसूचना जारी की है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020