बिलासपुर। शहर में तापमान 12 डिग्री पहुंच गया है। फर्श पर बर्फ जैसी ठंडी का अहसास हो रहा है। दिसंबर का प्रथम सप्ताह बीत चुका है लेकिन अभी तक स्कूलों का समय नहीं बदला है।

छोटे स्कूली बच्चों की तकलीफों के प्रति जिला प्रशासन की और संवेदनशीलता का यह नमूना शायद पहली बार पेश हो रहा है। इसके पहले नवंबर लगते ही स्कूलों का समय बदल दिया जाता था लेकिन अभी तक रायपुर से इस संबंध में कोई आदेश नहीं आए हैं। स्कूलों के प्राचार्य इसके लिए रायपुर से आदेश का इंतजार कर रहे हैं। छोटे बच्चों को सुबह स्कूल भेजने में बहुत परेशानी हो रही है। वे नींद ठीक से नहीं ले पा रहे हैं। सुबह स्कूल के लिए उठाओ तो रोने लगते हैं। तेज ठंड के चलते छोटे बच्चे बीमार भी हो रहे हैं।

तबीयत खराब होने का कारण बच्चों को स्कूल जाने से रोकना पड़ता है जिससे उनकी पढ़ाई भी प्रभावित हो रही है। स्कूलों का समय तेज ठंड को देखते हुए दो पाली के स्कूलों का समय सुबह 9 से 12 बजे और दोपहर 12 से 4 बजे तक और एक पाली के स्कूल का समय सुबह 11 से शाम 3 बजे तक करने का सुझाव शासन को दिया जा चुका है। अंबिकापुर और बलरामपुर के जिला प्रशासन ने बच्चों की समस्याओं को देखते हुए स्कूलों का समय बदल दिया है लेकिन अपने जिले में ऐसा नहीं हुआ है।

आज से विद्या भारती की अर्धवार्षिक परीक्षा

प्रदेश के सभी सरस्वती शिशु मंदिरों में कोर्स और परीक्षा में एकरूपता लाने के लिए अर्धवार्षिक परीक्षाएं नौ से 16 दिसंबर तक एक साथ एक समय पर आयोजित की जाएंगी। विद्या भारती छग के संस्कार श्रीवास्तव ने बताया कि कक्षा एक से पांच तक की परीक्षाएं सुबह नौ से 11 बजे तक कक्षा छह से आठ तक की परीक्षाएं दोपहर 12 से 2:30 बजे तक और कक्षा नौ से 12 तक की परीक्षाएं दोपहर 12 से तीन बजे तक आयोजित की जाएंगी।

Posted By: Manoj Kumar Tiwari

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close