बिलासपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। कलेक्टर सौरभ कुमार ने मंगलवार को साप्ताहिक जनदर्शन में बड़ी संख्या में पहुंचे लोगों से मुलाकात की। कलेक्टर ने ढाई घंटे तक लगभग 300 लोगों की निजी और सामुदायिक समस्याओं को गंभीरता से सुना। तत्काल सुलझने वाले प्रकरणों का मौके पर ही निराकरण किया। वहीं, कुछ गंभीर प्रकरणों को टीएल पंजी में दर्ज करते हुए समय-सीमा के अंदर निराकरण कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश अधिकारियों को दिए।

इस दौरान मस्तूरी तहसील के कुली गांव की 80 वर्षीय निराश्रित शाहीन बाई ने कलेक्टर से मिलकर पेंशन की राशि दिलाने की मांग की। कलेक्टर सौरभ कुमार ने उनकी समस्या सुनी। उन्होंने अधिकारियों को पेंशन की राशि 350 रूपये से बढ़ाकर प्रतिमाह 500 रूपये नियमानुसार जारी करने के निर्देश दिए। जनदर्शन में कलेक्टर ने अत्यंत जरूरतमंद और गरीब परिवार के 16 लोगों का मौके पर ही राशन कार्ड बनवाकर वितरित करवाया।

एक अन्य प्रकरण में कलेक्टर ने कमलू निशा की समस्या का समाधान भरण-पोषण नियम के तहत करने के निर्देश बिलासपुर एसडीएम को दिए। महिला ने बताया कि उसने अपना मकान और दुकान अपने बेटे के नाम कर दिया था। लेकिन अब बेटा और बहू उसे साथ नहीं रखते और न ही भरण-पोषण की राशि देते हैं। कोटा तहसील के ग्राम कुंवारीमुड़ा निवासी ईश्वर नेताम ने जाति प्रमाण पत्र बनवाने आवेदन दिया। कलेक्टर ने मामले को एसडीएम कोटा को सौंपा। बिल्हा ब्लाक के ग्राम सारधा निवासी राजेंद्र कौशिक सहित अन्य लोगों ने सेवा सहकारी के संस्था प्रभारी एवं सेल्समैन के खिलाफ राशन वितरण में अनियमितता की शिकायत की।

इस मामले को खाद्य नियंत्रक देखेंगे। सीपत तहसील के ग्राम मड़ई के सुभाष चंद्र घोसले ने एनटीपीसी सीपत में भू-विस्थापन के तहत रोजगार दिलाने की मांग की। कलेक्टर ने एसडीएम मस्तूरी को आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए। ग्राम पंचायत मंगला की सरपंच स्र्क्मिणी पटेल ने कलेक्टर से आंगनबाड़ी उन्न्यन के लिए राशि जारी करने की मांग की। कोटा ब्लाक की ग्राम पंचायत रतखंडी के सरपंच ने मैदान समतलीकरण की मांग की। कलेक्टर ने मामले को सीईओ जिला पंचायत को सौंपा। ग्राम बोड़सरा के परमेश्वर कौशिक ने अरपा भैंसाझार परियोजना के तहत मुआवजा राशि दिलवाने की मांग की। इस मामले को एसडीएम कोटा देखेंगे।

Posted By: Abrak Akrosh

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close