बिलासपुर। Bilaspur Crime News: मगरपारा रोड में रहने वाले डॉक्टर ने अपनी मां और भाई द्वारा झूठा शपथ पत्र देकर पैतृक संपत्ति को हड़पने की शिकायत पुलिस से की है। इस पर सिविल लाइन पुलिस जुर्म दर्ज कर मामले की जांच कर रही है। मगरपारा में रहने वाले डॉ. वाई राजशेखर ने अपनी शिकायत में बताया कि सात अगस्त 2020 को उनके पिता डॉ. वाईआर कृष्णा की मौत हो गई थी। इसके बाद उनकी मां वाई. कमला और छोटे भाई वाई. रवि शेखर ने राजस्व न्यायालय में जमीन के नामांतरण के लिए आवेदन लगाया।

शिकायतकर्ता ने बताया कि उनके पिता ने अपनी मौत के पहले कोई वसीयत नहीं की थी। वहीं, उनकी मां और छोटे भाई ने शपथ पत्र देकर बताया कि उनके अलावा संपत्ति का और कोई वारिस नहीं है। जबकि राजशेखर के अलावा बहन पल्लवी भी वारिस हैं। इस झूठे शपथ पत्र के आधार पर जमीन का नामांतरण कराया गया है। डॉक्टर ने बताया कि वे अलग-अलग शहरों में आर्थोपेडिक सर्जन के रूप में सेवाएं देते हैं। इसके कारण उन्हें अपनी मां और भाई के द्वारा की गई धोखाधड़ी की जानकारी नहीं मिल पाई। बीते दिनों जब वे श्ाहर आए तो इसकी जानकारी हुई। उन्होंने अपनी शिकायत के साथ जमीन के दस्तावेज भी प्रस्तुत किए हैं। इस पर पुलिस जुर्म दर्ज कर मामले की जांच कर रही है।

अस्पताल में काम करने वाले ने दी झूठी गवाही

डॉ. वाई. राजशेखर ने शिकायत में बताया कि उनके पिता के अस्पताल में काम करने वाले देवेंद्र सिंह ठाकुर ने भी नामांतरण में गवाही दी है। देवेंद्र ने न्यायालय में शपथ पत्र देकर बताया कि पैतृक संपत्ति के केवल दो ही वारिस हैं। जबकि गवाह को पता है कि डॉ. वाईआर कृष्णा की तीन संतान हैं। इसके बाद भी उसने झूठा शपथ पत्र दिया। वहीं, स्थल पंचनामा के गवाहों को भी इसकी जानकारी थी।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local