बिलासपुर। Bilaspur Crime News: चकरभाठा क्षेत्र के नयापारा अचानकपुर में पोहा मिल श्रमिक की हत्या के बाद फरार आरोपित को पुलिस ने 20 दिन बाद गिरफ्तार किया है। इससे पहले मामले में पुलिस ने सात आरोपित को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। चकरभाठा थाना प्रभारी सुनील तिर्की ने बताया कि पांच सितंबर की रात पोहा मिल श्रमिक अशोक मानिकपुरी अपने साथी विनोद साहू के साथ घूमने गया था। गांव के मंदिरहा तालाब के पास राजू ध्रुव अपने साथियों के साथ बैठकर शराब पी रहा था।

इस दौरान राजू और उसके साथी तालाब के पास ही शराब की बोतले फोड़ रहा था। अशोक ने इसका विरोध करते हुए राजू और उसके साथियों को मना किया। इसी बात को लेकर राजू ध्रुव और उसके साथियों ने मिलकर अशोक की पिटाई कर दी। मारपीट से घायल अशोक को राजू और उसके साथी चकरभाटा थाने के सामने फेंककर भाग गए। अशोक के साथी विनोद ने इसकी जानकारी डायल 112 को देखकर घायल को अस्पताल पहुंचाया।

शहर के निजी अस्पताल में उपचार के दौरान 14 सितंबर को उपचार के दौरान अशोक की मौत हो गई। घायल की मौत के बाद जागी पुलिस में आनन-फानन में तीन टीम बनाकर मामले के आरोपितों की तलाश शुरू की। 18 सितंबर को पुलिस ने मामले में सात आरोपित को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। वहीं घटना का मुख्य आरोपित राजू फरार चल रहा था। शनिवार कि सुबह पुलिस को सूचना मिली कि आरोपित चिल्हाटी में रिश्तेदार के घर छिपा हुआ है। इस पर पुलिस की टीम ने दबिश देकर आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। पूछताछ के बाद पुलिस ने आरोपित को न्यायालय में पेश किया है।

नाराज ग्रामीणों ने किया था चक्काजाम

अशोक की मौत के बाद नयापारा अचानकपुर के ग्रामीण आक्रोशित हो गए थे। ग्रामीणों ने अशोक के शव को चकरभाठा थाने के पास मुख्य सड़क में रखकर चक्काजाम कर दिया। इस दौरान ग्रामीणों ने पुलिस पर लापरवाही के आरोप भी लगाए। साथ ही हत्या के मामले में शामिल आरोपित को संरक्षण देने की बात भी कही। इसकी सूचना पर पहुंचे पुलिस अधिकारियों ने ग्रामीणों को समझाइश दी। साथ ही आरोपी को जल्द गिरफ्तार करने का आश्वासन दिया। अधिकारियों की समझाइश पर ग्रामीणों ने चक्काजाम समाप्त कर मृतक का अंतिम संस्कार किया।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local