बिलासपुर। Bilaspur Crime News: कोतवाली पुलिस ने जानलेवा हमले के बाद फरार तीन आरोपितों को गिरफ्तार किया है। आरोपितों को मंगलवार को न्यायालय में पेश किया है। कोतवाली थाना प्रभारी कोमल सिदार ने बताया कि घटना 29 मई की है। चांटीडीह में रहने वाले राजेंद्र सिंह ठाकुर 29 मई की रात किसी काम से गोड़पारा गए थे। वहां पर उनका पुराना घर है। उन्हें मोहल्ले में देखते ही आदित्य सोनी गाली-गलौज करने लगा। इसका विरोध करने पर आदित्या ने अपने पिता गोवर्धन सोनी और भाई वासू सोनी को बुला लिया।

तीनों ने जान से मारने की धमकी देते हुए राजेंद्र पर लकड़ी के बत्ते से हमला कर दिया। मारपीट से घायल राजेंद्र वहीं पर गिर गए। आसपास के लोगों ने उन्हें सिम्स में भर्ती कराया। इसके दूसरे दिन उनका भतीजा शुभम अस्पताल पहुंचा। तब उन्होंने घटना की जानकारी दी। शुभम ने मामले की शिकायत कोतवाली थाने में की।

इस पर पुलिस ने आदित्य, गोवर्धन और वासू के खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर आरोपितों की तलाश शुरू कर दी। इस बीच आरोपित फरार हो गए। सोमवार की शाम पुलिस को पता चला कि आरोपित मोहल्ले में घूम रहे हैं। इस पर पुलिस ने घेराबंदी कर आदित्य, गोवर्धन और वासू को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने उन्हें न्यायालय में पेश किया है।

दो महीने तक फरारी काटते रहे आरोपित

इसी मामले में आदित्य ने भी राजेंद्र के खिलाफ शिकायत की थी। इस पर पुलिस ने राजेंद्र के खिलाफ जुर्म दर्ज किया था। पुलिस ने राजेंद्र को गिरफ्तार कर लिया था। वहीं, आरोपित आदित्य और उसके रिश्तेदार फरारी काटते रहे। दो महीने बाद पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार किया है।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local