बिलासपुर। Bilaspur Crime News: सिविल लाइन क्षेत्र में नौकर ने मालिक के मकान और बैंक में जमा रुपये को हड़पने के लिए फर्जी वसीयतनामा बनवा लिया। इसके बाद बैंक से रुपये निकाल लिए। वहीं, मकान को भी अपने नाम पर करा लिया। इसकी जानकारी होने पर मृतक की भांजा बहू ने सिविल लाइन थाने में शिकायत की है। जांच के बाद पुलिस ने नौकर के खिलाफ जुर्म दर्ज कर लिया है।

कुदुदंड चितले कालोनी निवासी मुक्ता खानखोजे ने बताया कि उनके मामा ससुर केडी पारगांवकर नि:संतान थे। उन्होंने अपने जीवन काल में पत्नी सुनंदा के नाम पर वसीयतनामा तैयार कराया। 23 मई 2015 को उनकी पत्नी का देहांत हो गया। इस पर उन्होंने अपने भांजे अनंता गोपाल के नाम पर दूसरा वसीयतनामा तैयार कराया। 19 मई 2021 को केडी पारगांवकर का निधन हो गया। इस दौरान उनके भांजे अनंता गोपाल और परिवार के सदस्य उनके मकान में रह रहे थे।

अनंता गोपाल ने वसीयत के आधार पर नामांतरण के लिए आवेदन दिया। इस पर उन्हें पता चला कि नौकर रतिपाल कश्यप ने भी नामांतरण के लिए आवेदन दिया है। मुक्ता और अनंता ने इस संबंध में जानकारी जुटाई। इसमें पता चला कि केडी पारगांवकर के नौकर ने उनके नाम वसीयतनामा बनवा लिया है। जांच में पता चला कि दूसरे व्यक्ति से अंगुठा लगवाकर फर्जी वसीयतनामा तैयार कराया है। इसी के आधार पर उनके बैंक में जमा तीन लाख 30 हजार स्र्पये भी एटीएम के माध्यम से निकाल लिए। इसकी शिकायत पर पुलिस ने जुर्म दर्ज कर लिया है।

Posted By: sandeep.yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local