बिलासपुर। बिरकोना में नाबालिग छात्रा से दुष्कर्म के मामले में मुख्य आरोपित को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपित पुलिस को गुमराह करने के लिए बार-बार लोकेशन बदल रहा था। इस बीच बिल्हा के पास रायपुर रोड में घेराबंदी कर पकड़ लिया। पुलिस ने मुख्य आरोपित सहित अन्य पांच अभियुक्तों को कोर्ट में पेशकर जेल भेज दिया है।

26 जनवरी को सरकंडा क्षेत्र में रहने वाली 16 वर्षीय नाबालिग छात्रा अपने छोटी बहन के साथ स्कूल में गणतंत्र दिवस कार्यक्रम देखने गई थी। दोनों दोपहर दो बजे घर लौट रही थीं। रास्ते में कार सवार दीपक सिंह व दो नाबालिग ने उन्हें रोक लिया। इसके बाद घर तक लिफ्ट देने की बात कहते हुए दोनों बहन को कार में बैठा लिया।

आरोपित उन्हें घर छोड़ने के बजाय बिरकोना में सुनसान जगह ले गए। इसके बाद वहां बाइक में सवार होकर मुख्य आरोपित योगेश वर्मा, राहुल देवांगन समेत व एक नाबालिग पहुंचा। योगेश नेचाकू के जोर पर छात्रा को खंडहरनुमा घर में ले जाकर दुष्कर्म किया। उसके बाद छात्रा की बेल्ट से पिटाई कर घटना के बारे में किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी दी। घटना के बाद योगेश वहां से फरार हो गया।

वहीं अन्य आरोपित दोनों बहन को घर के पास छोड़कर फरार हो गए। दुष्कर्म की शिकायत मिलते ही सरकंडा पुलिस सक्रिय हो गई। रात होने तक मुख्य आरोपित योगेश को छोड़कर शेष पांचों का गिरफ्तार कर लिया। इसकी भनक लगते ही योगेश फरार होने की कोशिश करने लगा। उसने रायपुर भागने की योजना बनाई।

वहीं लगातार लोकेशन बदलकर पुलिस को गुमराह करने लगा। सोमवार की रात को ही रायपुर के लिए निकला। इसकी जानकारी मिलते ही पुलिस ने उसे देर रात को बिल्हा के पास रायपुर रोड में घेराबंदी कर पकड़ लिया। सभी आरोपितों के खिलाफ धारा 376, 34 और पाक्सो एक्ट के तहत जुर्म दर्ज किया गया है। उन्हें कोर्ट में पेशकर जेल भेज दिया गया है।

दो दिन पहले ही मारपीट का मामला हुआ था दर्ज

मुख्य आरोपित योगेश वर्मा आदतन बदमाश है। घटना के दो दिन पहले ही उसने सरकंडा क्षेत्र के एक घर में घुसकर मारपीट की घटना को अंजाम दिया था। इस मामले में उसके खिलाफ एफआइआर दर्ज करवाई गई है। इसके अलावा भी योगेश के खिलाफ कई मामले दर्ज हैं।

वारदात के लिए पहले की थी प्लानिंग

आरोपितों से पूछताछ में पता चला है कि उन्होंने पहले से छात्रा को बहला फुसलाकर लाने की प्लानिंग कर ली थी। पूर्व परिचित होने के कारण छात्रा भी उसके साथ कार में बैठ गई। बिरकोना पहुंचने पर युवकों ने योगेश वर्मा को फोन कर बुलाया था। इसके बाद घटना को अंजाम दिया गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags