बिलासपुर। Bilaspur Education News: गुरु घासीदास केंद्रीय विश्वविद्यालय में कोरोना महामारी के बीच,खेल गतिविधि, लाइब्रेरी और प्रयोगशला बंद है। फिर छात्र-छात्राओं से इनका शुल्क वसूल किया जा रहा है। छात्र परिषद ने इसे लेकर कड़ा विरोध शुरू कर दिया है। सेमेस्टर शुल्क में कटौती की मांग किया है। छात्र परिषद के अध्यक्ष सचिन गुप्ता ने अधिष्ठता छात्र कल्याण के नाम पत्र लिखकर शुल्क को लेकर विरोध जताया है।

सचिन का कहना है कि सत्र 2020-21 में आनलाइन कक्षाएं संचालित है। इस दौरान छात्र-छात्राओं के लिए खेल गतिविधि, लाइब्रेरी और प्रयोगशाला बंद कर दिया गया है। संकट के इस घड़ी में अब छात्रों से इसका शुल्क मांगा जा रहा है। छात्रों को सेमेस्टर परीक्षा का आवेदन जमा लिया जा रहा है। जिसे ध्यान में रखते हुए परिषद ने मांग किया है कि ट्यूशन फीस को छोड़कर अन्य सभी शुल्क ना लिया जाए।

बल्कि इसकी कटौती कर दिया जाए। गौरतलब है कि कोरोना महामारी के बीच कई छात्र-छात्राओं के अभिभावकों का निधन हो गया है। आर्थिक संकट गहरा गया है। फिर भी विश्वविद्यालय द्वारा इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। मामले में मीडिया सेल प्रभारी प्रो.प्रतिभा जे मिश्रा ने कहा कि छात्रहितों का ध्यान रखा जा रहा है। ऐसे कोई समस्या नहीं है।

तर्कसंगत नहीं है शुल्क: उदयन

ब्रदरहूड पैनल के पदाधिकारी और छात्र उदयन शर्मा ने कहा कि विश्वविद्यालय द्वारा शुल्क को लेकर मनमानी ठीक नहीं है। संकट के इस घड़ी में उन चीजों का शुल्क जिनका उपयोग विद्यार्थियों ने किया ही नहीं है। फिर भी वसूल करना तर्कसंगत नहीं है। विश्वविद्यालय ने यदि छात्रों को राहत नहीं दिया तो हम उच्च न्यायालय की शरण में जाएंगे।

Posted By: Yogeshwar Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags