बिलासपुर। Bilaspur Health News: दिवाली की रात पटाखे जलाने के दौरान शहरी क्षेत्र में ढाई दर्जन से ज्यादा लोग झुलस गए हैं। उन्हें सिम्स और जिला अस्पताल में उपचार मिला है। ऐसा पहली बार हुआ है कि पटाखों से झुलसने के इतने कम मामले सामने आए हैं। इससे यह तो साफ है कि इन बार पूरी तरह सुरक्षित दिवाली मनाई गई है।

सिम्स की पीआरओ डाक्टर आरती पांडेय ने बताया कि वैसे तो झुलसने के 30 से ज्यादा मामले हुए हैं। लेकिन ज्यादातर सामान्य मामले रहे हैं । ऐसे लोगों को प्राथमिक उपचार के बाद घर भेज दिया गया। लेकिन 12 लोग ज्यादा ही झुलस गए थे । उन्हें रातभर निगरानी में रखा गया। इसके बाद सुबह छुट्टी दी गई। वहीं जिला अस्पताल कुछ मामले आए हैं। इनमें प्रभवितों को तत्काल उपचार मिला है। इसी तरह कुछ मामले शहर के निजी अस्पतालों में भी पहुंचे हैं। उन्हें उपचार मिला है। अभी भी पर्व में दो दिन बचे हैं, ऐसे में जिला अस्पताल व सिम्स में अलर्ट चलता रहेगा। शाम छह बजे से रातभर पटाखे से झुलसने वालों को उपचार मिलता रहेगा। कुल मिलाकर शहरी क्षेत्र में पटाखे से कोई भी गंभीर मामला नहीं हुआ है। इस बार भी लोगों ने सुरक्षित दिवाली मनाई।

ग्रामीण क्षेत्र में भी हुए हादसे

सीएमएचओ डाक्टर प्रमोद महाजन ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में भी पटाखे से दुर्घटना होने की आशंका को देखते हुए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और बड़े स्वास्थ्य केंद्रों में स्टाफ तैनात हैं। दिवाली की रात ग्रामीण क्षेत्रों में भी कुछ झुलसने के मामले हुए हैं। हालांकि सभी सामान्य रहे हैं। उन्हें उपचार की सुविधा मिली है। जिले में पटाखे से झुलसने का कोई भी गंभीर मामला सामने नहीं आया है।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local