Bilaspur Weather Update: बिलासपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। कड़ाके की ठंड के बीच पश्चिमी विक्षोभ बाधा बनकर सामने आ गया है। आसमान में बादलों ने उत्तर से आ रही नमीयुक्त ठंडी हवाओं पर असर डालना शुरू कर दिया है। इसका असर अब तापमान में दिखने लगा है। न्यूनतम तापमान 12.2 डिग्री से चढ़कर 13.1 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। मौसम विभाग की मानें तो अभी दो-तीन दिनों तक यह स्थिति बनी रहेगी। बादलों के छंटते ही सर्दी बढ़ेगी।

नवंबर जाते-जाते कड़ाके की ठंड दे रहा है। सोमवार की रात भी जबरदस्त ठंड रही। ठंडी हवाएं चलने से लोग कांपने लगे। मंगलवार की सुबह लोग धूप का आनंद उठाते नजर आए। मौसम विशेषज्ञों की मानें तो नवंबर तो सिर्फ झलकी थी, दिसंबर में ठंड बढ़ेगी। तीन दिसंबर से तापमान में गिरावट की संभावना है। नवंबर का आखिरी सप्ताह हमेशा की तरह अपने तेवर बनाए हुए है।

हालांकि तापमान में अब और गिरावट की संभावना कम है। क्योंकि पश्चिमी विक्षोभ के कारण दिन व रात के तापमान में वृद्धि की संभावना है। वहीं, बिलासपुर के साथ पेंड्रारोड में भी रात को जबरदस्त ठंड महसूस हो रही है। यहां स्थिति और भी गंभीर है। न्यूनतम तापमान 10 से 11 डिग्री सेल्सियस है। जिस तरह से ठंड पड़ रही है, यहां शीतलहर जैसी स्थिति बन सकती है।

मौसम विभाग का संदेश

मौसम वेधशाला के मौसम विज्ञानी डा. एचपी चंद्रा के मुताबिक एक ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर स्थित है। इसके कारण क्षोभ मंडल के निम्न स्तर पर हल्की नमी का आगमन हो रहा है। परिणाम स्वरूप प्रदेश के दक्षिणी भाग में हल्के बादल आयुष हुए हैं। एक पश्चिमी विक्षोभ एक दिसंबर को जम्मू कश्मीर को प्रभावित करने की संभावना है। इसके कारण उत्तर से आने वाली ठंडी और शुष्क हवा में बाधा आने की संभावना है।

बुधवार का मौसम जानें

30 नवंबर को मौसम शुष्क रहने की संभावना है। प्रदेश में न्यूनतम तापमान में बढ़ोतरी का क्रम जारी रहेगा। परंतु न्यूनतम तापमान में कोई बड़ा परिवर्तन होने की संभावना नहीं है। बिलासपुर में सुबह कोहरा नजर आ सकता है। ठंड का असर जारी रहेगा। फिलहाल विशेष परिवर्तन की संभावना कम है। बस्तर संभाग में तीन दिसंबर तक न्यूनतम तापमान में चार से पांच डिग्री वृद्धि होने की संभावना है।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close