बिलासपुर(नईदुनिया न्यूज)। विधायक शैलेष पांडेय ने छात्र-छात्राओं की मांग पर पंडित राम दुलारे दुबे शासकीय बालक स्कूल को स्वामी आत्मानंद स्कूल बनाने की घोषणा की है। विधायक ने कहा है कि मुख्यमंत्री की मंशा के अनुरूप शासन का ड्रीम प्रोजेक्ट के अंतर्गत इस स्कूल को स्वामी आत्मानंद स्कूल बनाया जाएगा।

गुरुवार को विधायक पांडेय ने शाला के सांस्कृतिक एवं कौशल विकास प्रतियोगिता की विजेता टीम को पुरस्कार बांटे। इस दौरान स्कूल में कंप्यूटर तथा प्रिंटर एवं अन्य सामग्री, अत्याधुनिक टेक्नोलाजी के लिए पांच लाख देने की घोषणा की। साथ ही स्कूल के 1000 बच्चों के जूतों के लिए एक लाख की राशि दी है। स्कूल की प्राचार्य रीता तिवारी की मांग पर विधायक ने कहा है कि स्कूल परिसर में कब्जा हटाने, साइकिल स्टैंड बनाने व अन्य कार्यों के लिए पैसे की कोई कमी नहीं होगी।

इस दौरान बच्चों ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया। वहीं, विधायक ने कहा कि स्कूल के बच्चे अच्छे से पढ़ाई करें और माता-पिता का नाम रोशन करें। इस दौरान कांग्रेस के ब्लाक अध्यक्ष विनोद साहू ने बच्चों के उज्जवल भविष्य की कामना की। कार्यक्रम में स्कूल समिति की सीमा शुक्ला, आशा सिंह, प्राचार्य निशा तिवारी, राजू शर्मा, रीता मजूमदार, भारत जुरयानी, अर्चना दुबे, प्रीति गंधर्व, पूर्णिमा मिश्रा, सुदेश दुबे, अमित नामदेव आदि मौजूद थे ।

डिवाइडर बनवाने की मांग

वार्ड के नागरिकों ने मुक्तिधाम चौक में सरकंडा पुल के नीचे जाम की स्थिति से निपटने डिवाइडर बनवाने की मांग की। प्राचार्या निशा तिवारी ने विधायक को मांग पत्र सौंपा। इस पर विधायक ने कहा कि स्वामी आत्मानंद स्कूल बनाने राज्य शासन तीन से चार करोड़ की राशि यहां खर्च करेगी।

विजेताओं को मिला पुरस्कार

सांस्कृतिक एवं पाठ कोत्तर कौशल विकास प्रतियोगिता के अंतर्गत स्कूल में आयोजित खेल प्रतियोगिता में कई बच्चों ने भाग लिया। इसमें रस्सी दौड़, जलेबी दौड़, बोरा और चम्मच दौड़ समेत कई प्रतियोगिताएं हुई। प्रथम एवं द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले खिलाड़ियों को प्रमाण पत्र बांटे गए।

Posted By: Abrak Akrosh

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close