बिलासपुर। Bilaspur Municipal Corporation News: नगर निगम ने होलिका दहन के लिए पेड़ों की कटाई रोकने के लिए पहल की है। इसके लिए निगम के चारों गोठानों में गोकाष्ठ का निर्माण कराया जा रहा है। इसे आम लोगों के लिए बाजार में कम कीमत में उपलब्ध कराया जाएगा।

गोकाष्ठ की खास बात यह है कि यह लकड़ी से सस्ती और हल्की है। इसलिए इसका उपयोग आसानी से किया जा सकता है। इस गोकाष्ठ को होलिका दहन में जलाने से पेड़ों की कटाई भी रोकी जा सकेगी। यही वजह है कि इस बार नगर निगम गोकाष्ठ से बनी होली को बढ़ावा दे रहा है। इससे महिला स्व सहायता समूह की महिलाओं को भी फायदा पहुंचेगा। योजना के तहत निगम के मोपका, सकरी, सिरगिट्टी और तिफरा गोठान में गोकाष्ठ का निमार्ण तेजी से कराया जा रहा है। पर्याप्त मात्रा में गोकाष्ठ बनने बाद इसे होली पर्व के दौरान बाजार में बेचा भी जाएगा। इसकी कीमत लड़की के मुकाबले कम रखी जाएगी।

ऐसे हो रहा तैयार

गोठान में कई घंटों की मेहनत के बाद गोकाष्ठ को तैयार किया जा रहा है। इसको बनाने में गोबर, लकड़ी का चूरा, गंगाजल व गोमूत्र आदि का उपयोग किया जाता है। इन सभी को मिलकार मशीन में डाला जाता है। इसके बाद मशीन से लकड़ी की तरह गोल लंबी व मध्यम आकार का गोकाष्ठ निकलता है। इसे चार से पांच दिन तक सुखाया जाता है। इसके बाद इसे जलाने के काम में लिया जाता है।

इस बार होलिका दहन में गोकाष्ठ को बढ़ावा दिया जा रहा है। इसके लिए गोठानों मंे गोकाष्ठ तैयार कराया जा रहा है। इसे कम कीमत पर बाजार में उपलब्ध कराया जाएगा।

रामशरण यादव

महापौर, नगर निगम

Posted By: Yogeshwar Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags