बिलासपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। लूट के आरोपितों की धरपकड़ के दौरान सिरगिट्टी पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। पुलिस को पता चला कि आरोपित नशीली दवाओं के सौदागर भी हैं। मामले में 2260 नाइट्रा टेबलेट और 63 वनरेक्स कफ सीरप जब्त कर तीन आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है। सिरगिट्टी पुलिस गुरुवार को आदर्श नगर में रहने वाले मुकेश लाउत्रे के साथ हुई लूट के मामले में आरोपितों की तलाश में जुटी गई थी। इस दौरान आरोपित प्रदीप गोंड और उसकी पत्नी श्वेता गोड़ का पकड़ा गया। सख्ती से पूछताछ करने पर दोनों ने लूट की बात स्वीकार की। इसके साथ प्रदीप ने पुलिस को बता दिया कि वह अपने कुछ साथियों के साथ नशीली दवाओं का अवैध कारोबार करता है। उसके साथ विनोबा नगर निवासी इकबाल खान पिता अफजल खान और ग्राम गोढ़ी बिल्हा निवासी राजू मिरी पिता साधराम मिरी भी नशीली दवा खरीदने व बेचने का काम करते है। साथ ही जानकारी दी कि 20 नवंबर को राजू मिरी से नशीली दवा खरीदी थी। अभी भी उसके घर में बड़ी मात्रा में नशीली दवा है। सूचना के आधार पर पुलिस ने आरोपित राजू के ग्राम गुढ़ी स्थित घर पर दबिश दी।

वहां एक छोटे बेग 220 नाइट्रा और घर के शेड में छह हजार रुपये मिले। इस पर राजू को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई। उसने कुछ नशीली दवाओं को अपनी सास की घर में छिपाकर रखने की जानकारी दी। पुलिस ने उसकी सास के सिरगिट्टी के आवासपारा स्थित घर में छापामार कर 2040 नाइट्रा टेबलेट जब्त कर लिए। इसके बाद अन्य आरोपित इकबाल को विनोबा नगर स्थित मकान से पकड़ा गया।

उसने हाईटेक बस स्टैंड के पीछे कबाड़ हो चुके बस की डिक्की में 63 वनरेक्स सीरप छिपाने की जानकारी दी। इन दवाओं को भी पुलिस ने जब्त कर लिया। इस मामले में तीनों आरोपित के खिलाफ पुलिस ने एनडीपीसी एक्ट की धारा 21ए, 22बी, 28, 29 के तहत अपराध दर्ज कर रिमांड में जेल भेजते हुए कार्रवाई कर रही है।

पहले से दर्ज हैं कई मामले

पुलिस के अनुसार प्रदीप गोड़ और राजू मिरी आदतन बदमाश हैं। पहले भी नशीली दवा बेचते हुए पकड़े जाने पर प्रदीप के खिलाफ छह बार एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है। इसी तरह राजू भी एक बार एनडीपीएस एक्ट के तहत जेल जा चुका है। लेकिन इसके बाद भी दोनों ने नशीली दवाओं का अवैध कारोबार जारी रखा है।

Posted By: Nai Dunia News Network