बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

गुरु घासीदास केंद्रीय विश्वविद्यालय में छात्र परिषद चुनाव के बीच माहौल गरमा गया है। छात्र-छात्राओं ने कुलपति से लेकर केंद्रीय मानव संसाधन एवं विकास मंत्रालय को पत्र लिखकर कैंपस में बाहरी व असामाजिक तत्वों के प्रवेश पर रोक लगाने मांग की है। इसे लेकर स्टूडेंट आजादी..आजादी के नारे लगाने लगे हैं। जिस पर दिल्ली में खलबली मच गई है।

केंद्रीय विश्वविद्यालय में चुनाव की उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है। 20 जनवरी को छात्र परिषद की 40 में से 20 नॉमिनेटेड सीटों की (मेरिट, कल्चरल, खेल) नॉमिनेटेड सीटों की फॉर्म जमा करने अंतिम दिन है। शाम छह बजे तक छात्र प्रक्रिया पूरी कर सकेंगे। ठीक पहले छात्र-छात्राओं ने कैंपस में सुरक्षा की मांग को लेकर नारेबाजी शुरू कर दिया है। स्टूडेंट का कहना है कि विश्वविद्यालय प्रशासन ने जानवरों का प्रवेश बंद करने चारों ओर बाउंड्री वाल बनाया,लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। दिनभर जानवर कैंपस में दिखाए देते हैं। असामाजिक तत्वों और बाहरी युवाओं की एंट्री बंद करने सुरक्षा गार्ड और सीसीटीवी लगाए गए। इसका भी कोई फायदा नहीं हो रहा है। विगत माह से बाहरी युवाओं की दखल तेजी से बढ़ी है। अधिकारी भी उन्हें पूर्ण संरक्षण दे रहे हैं। दूसरी ओर भाजपा नेता सुशांत शुक्ला द्वारा छात्रों को पीटने व नामांकन फार्म फाड़ने का आरोप लगा है। कोनी पुलिस में अपराध भी दर्ज हो चुका है। जिसके बाद से स्टूडेंट नाराज हैं। उनका कहना है कि इस तरह की घटना निंदनीय है। छात्र छात्राएं डरे व सहमे हुए हैं। हॉस्टलर्स भी सुरक्षा को लेकर लगातार मांग कर रहे हैं। यही वजह है कि आजादी के नारे लगने के बाद दिल्ली यूनिवर्सिटी व जेएनयू के छात्र-छात्राएं भी सपोर्ट में आ गए हैं।

कितने नामांकन फार्म फटे पता नहीं

भाजपा नेता द्वारा छात्रों के नामांकन फार्म फाड़ने और मारपीट के बाद यह पता नहीं चल रहा कि कितने नामांकन फार्म फटे हैं। अब तक इसे लेकर कोई भी छात्र सामने नहीं आया है। गौरतलब है कि 112 छात्रों ने 583 फार्म लिए थे।, 140 फार्म जमा हुए। स्क्रूटनी कल होगी। शाम तक वैध उम्मीदवारों की सूची जारी होगी। 21 को नामांकन वापसी समय दिया जाएगा। इसके बाद अंतिम सूची जारी होगी। 24 को कक्षा प्रतिनिधियों के लिए वोटिंग और मतगणना होगी।

एबीवीपी अडिग

एबीवीपी के प्रदेश मंत्री सन्नी केसरी ने अब मोर्चा संभाल लिया है। एसपी को ज्ञापन सौंपने के बाद छात्रों को कहा कि डरने की जरूरत नहीं है। न्याय के लिए आखिर तक लड़ाई जारी रहेगी। राष्ट्रवाद की भावना छात्रों को जगाने का काम जारी रहेगा। छात्रों के साथ मारपीट की घटना बर्दाश्त नहीं की जाएगी। संघर्ष पेनल से जुड़े छात्र-छात्राओं को पुलिस सुरक्षा देगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket