बिलासपुर। सिरगिट्टी क्षेत्र में 11 साल की आदिवासी बच्ची को अकेली पाकर युवक अपने घर ले गया और जबरिया कमरे में बंद कर उससे दुष्कर्म करने की कोशिश की। इसी बीच आरोपित का पिता घर पहुंच गया। तब मौका पाकर बच्ची वहां से भाग गई। मामला सामने आने पर पुलिस ने अपराध दर्ज कर लिया है।

सिरगिट्टी क्षेत्र की 11 वर्षीय आदिवासी छात्रा स्कूल में पढ़ती है। उसके माता-पिता शनिवार को काम से बाहर गए थे। इस बीच छात्रा अपने घर में अकेली थी। शाम को वह किसी काम से घर में ताला बंद कर बाहर जा रही थी। इसी बीच आरोपित राजा वैष्णव ने उसे देख लिया। इस दौरान उसने छात्रा को पकड़ लिया और अपने सूने मकान में ले गया।

वह छात्रा को बंधक बनाकर जबरिया दुष्कर्म करने की कोशिश करने लगा। इस बीच छात्रा चिल्ला रही थी। तभी आरोपित का पिता घर में पहुंच गया। आरोपित के दरवाजा खोलते ही डरी-सहमी बच्ची उसके चंगुल से छूटकर अपने घर पहुंची।

माता-पिता के आने पर उसने घटना की जानकारी दी। मामला सामने आने पर परिजन उसे लेकर थाने पहुंच गए। उसकी रिपोर्ट पर पुलिस ने आरोपित के खिलाफ धारा 294, 323, 506, 366, 376, 511, एट्रोसिटी एक्ट व 4-5 पाक्सो एक्ट के तहत अपराध दर्ज कर लिया है।

मारपीट करते हुए जान से मारने की दी धमकी

छात्रा को अकेली पाकर आरोपित युवक की नीयत बिगड़ गई। यही वजह है कि उसने छात्रा को जबरिया पकड़ लिया। इस दौरान उसने बच्ची के साथ मारपीट की। उसके विरोध करने पर जान से मारने की धमकी भी देने लगा।

चोरी के संदेह में पूछताछ कर रही है पुलिस

सिरगिट्टी टीआइ यूएन शांत कुमार साहू ने बताया कि इस मामले की शिकायत व एफआइआर दर्ज होने से पहले ही पुलिस आरोपित राजा वैष्णव को पकड़कर थाने ले आई थी। दरअसल, आरोपित राजा चोरी के मामले का भी संदेही है। इसी सिलसिले में उससे पूछताछ कर रही थी। आरोपित के अपराध स्वीकार करने के बाद पुलिस चोरी का माल बरामद करने का प्रयास कर रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket