बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

रेलवे मार्केट बुधवारी बाजार मेन रोड को नाकेबंदी कर जिला प्रशासन ने बंद कर दिया है। प्रवासी मजदूरों के खतरे को देखते हुए यह कदम उठाया गया है। 10 व्यापारियों की दुकानें बीतें दो माह से बंद हैं। पांच करोड़ से अधिक का नुकसान हो चुका है। कर्मचारियों को वेतन के लाले पड़ने लगे है। घर के आर्थिक स्थिति भी बेपटरी होने लगी है। व्यापारियों का कहना है कि यह कैसे नाकेबंदी है। रेलवे का रिजर्वेशन काउंटर खुल गया है और दुकानों को बंद रखने का आदेश है।

जिला प्रशासन ने बुधवारी बाजार के भीतर की दुकानों को खोलने का आदेश दिया है। किंतु गेट नंबर एक सहित मेन रोड को नाकेबंदी कर अवाजाही बंद कर दी गई है। सामने की सभी दस दुकानों को अगामी आदेश तक बंद करने कहा है जिसमें तीन मेडिकल स्टोर भी शामिल हैं। दुकान बंद होने से व्यापारियों सहित रेलवे परिक्षेत्र के रहवासी भी परेशान हैं। क्योंकि मेन रोड पर ही सभी बड़ी प्रमुख दुकान है। दो महीनें के भीतर व्यापारियों को पांच करोड़ का नुकसान हो चुका है। हालात ऐसे ही बने रहे तो दुकानों में काम करने वाले कर्मचारियों की नौकरी भी खतरे में पड़ जाएगी। व्यापारियों का साफ कहना है कि ऐसी परिस्थिति में घर चलाना मुश्किल है,वेतन कहां से देंगे।

व्यापारियों की तकलीफ

प्रशासन निर्धारित करें मापदंड : सुनील

डॉली ड्रेसेस के संचालक सुनील केरवानी ने कहा कि जिला प्रशासन व्यापारियों की तकलीफ समझे। सुरक्षा मापदंड के लिए गाइडलाइन जारी करें। हम शत प्रतिशत पालन करेंगे। आर्थिक रूप से हमें काफी नुकसान हो रहा है। दुकान से कई कर्मचारियों के परिवार पलते हैं।

रिजर्वेशन कराने सब जा रहेः सुरेंद्र

जय हिंद सायकल स्टोर्स के संचालक सुरेंद्र सिंह आजमानी ने कहा कि मेन रोड से दुकान काफी दूरी पर है। शहरभर से लोग रिजर्वेशन कराने रेलवे स्टेशन पहुंच रहे हैं। श्रमिक वहां पैदल गुजर रहे हैं। खतरा सबसे अधिक वहां है। इसके बाद भी दुकान हमारी बंद है।

व्यापार करना हुआ मुश्किलः विक्की

विक्की मोबाइल सेंटर के संचालक विक्की राजपाल ने कहा कि कभी रेलवे से नामांतरण की समस्या, कभी साफ-सफाई। अब तक श्रमिकों के नाम पर दुकाने बंद रखनी पड़ रही है। कलेक्टर साहब को उचित प्लानिंग कर रास्ता निकालना चाहिए। हम परेशान है।

व्यापारियों की तकलीफ बहुत है। दो माह सिर्फ पांच दिन दुकानें खुली है। प्रशासन चाहे तो मेन रोड पर अवाजाही बंद रखे। किंतु दुकान खोलने अनुमति देनी चाहिए। मेरी जानकारी में आरपीएफ, पुलिस की सख्त निगरानी के बीच एक भी प्रवासी मजदूर बस से नहीं उतरे हैं। ईद का त्यौहार है। सोमवार से राहत मिलनी चाहिए।

चंद्र प्रकाश छाबड़ा

अध्यक्ष, व्यापारी संघ, बुधवारी बाजार

वर्जन

व्यापारियों की समस्या को लेकर चर्चा हुई है। मैंने अधिकारियों को परीक्षण करने कहा है। रिपोर्ट के बाद आदेश करेंगे।

डॉ.संजय अलंग

कलेक्टर,बिलासपुर

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस