बिलासपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)।

रेलवे के टिकट आरक्षण केंद्रों में बुकिंग से ज्यादा रिफंड कराने वाले पहुंच रहे हैं। दूसरे दिन शनिवार को यही स्थिति थी। जोनल स्टेशन स्थित पीआरएस में सुबह से लोगों की भीड़ थी। काउंटर खुलते ही रिजर्वेशन फार्म जमा हुए। दोपहर 12 बजे के पहले 92 हजार रुपये रिफंड दिया गया। इसके बाद रुपये खत्म हो गए। दोबारा रकम आते ही सभी को कॉल कर बुलाया गया। लगभग तीन लाख 60 हजार रिफंड किया गया।

रेलवे बोर्ड के आदेश पर बिलासपुर रेल मंडल ने भी शुक्रवार से चुनिंदा टिकट आरक्षण केंद्र को खोल दिया है। जानकारी मिलते ही आरक्षण केंद्र में भीड़ जुट गई। इसमें रिजर्वेशन कराने वालों से ज्यादा रिफंड के थे। पहले लगभग नौ लाख रुपये रिफंड हुआ। इस रकम के बाद रेलवे के पास शनिवार को होने वाले रिफंड के लिए रुपये की दिक्कत थी। सुबह इसका प्रभाव भी दिखा। सुबह आठ बजे पीआरएस खोला गया तो लोगों की भीड़ थी। इसमें सबसे ज्यादा टिकट रद कराकर रिफंड लेने वाले थे। रेलवे परेशान थी। क्योंकि उनके पास रिफंड के लिए रुपये नहीं थे। कुछ घंटे में ही रुपये खत्म हो गए। जबकि उस समय भीड़ थी। जब लोगों को पता चला कि रिफंड के लिए रुपये नहीं तो सभी मायूस हो गए। हालांकि सभी का नाम व मोबाइल नंबर एक रजिस्टर में नोट कराया गया। उन्हें कहा गया कि रकम आते ही रेलवे से कॉल किया जाएगा। दोपहर 3.30 बजे लगभग रकम पीआरएस में पहुंची। इसके बाद सभी को कॉल कर रिजर्वेशन केंद्र बुलाया गया। सभी को बारी-बारी से रिफंड किया गया।

फैक्ट फाइल

रद टिकट -204

यात्रियों की संख्या -588

रिफंड -तीन लाख 60 हजार रुपये

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस