बिलासपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)।

पीआरएस खुलने के दूसरे दिन रिजर्वेशन कराने वालों की संख्या बहुत कम रही। सभी काउंटर मिलाकर 40 टिकट बने हैं। इसमें यात्रियों की संख्या 62 के लगभग थी। इससे 62 हजार राजस्व प्राप्त हुआ है। ज्यादातर रिजर्वेशन अहमदाबाद, हावड़ा व मुंबई के लिए हुआ है। पहले दिन की तरह जनशताब्दी एक्सप्रेस के लिए एक भी यात्री नहीं मिले। इस ट्रेन की सभी सीट खाली है।

कोरोना वायरस का यात्रियों में जबरदस्त खौफ है। यही वजह है कि पीआरएस खुलने के बाद भी रिजर्वेशन कराने के लिए गिनते के लोग पहुंच रहे हैं। जबकि रेलवे की उम्मीद थी कि लोग रिजर्वेशन कराने के लिए उमड़ पड़ेंगे। दो दिन से स्थिति ठीक विपरीत है। काउंटर में गिनती के लोग रिजर्वेशन कराने पहुंच रहे हैं। इनमें वे लोग हैं जो लॉकडाउन के कारण बिलासपुर में फंस गए और घर वापसी करना चाहते हैं। लेकिन अभी तक कोई संसाधन नहीं मिलने के कारण जहां हैं वहीं थे। अब जब एक जून से ट्रेनों के परिचालन की घोषणा की गई और रिजर्वेशन काउंटर खोले गए घर लौटने के लिए रिजर्वेशन कराने के लिए पहुंच रहे हैं। केवल रिजर्वेशन से रेलवे को 28 हजार राजस्व प्राप्त हुआ। जो बेहद कम है। जनशताब्दी एक्सप्रेस में दूसरे दिन भी रिजर्वेशन नहीं हुआ। इससे रेलवे की चिंता बढ़ गई। बिना यात्री ट्रेन का परिचालन मुश्किल लग रहा है। मालूम हो कि रेलवे ने एक जून से तीन ट्रेनें चलाने का निर्णय लिया है। इसमें हावड़ा- मुंबई मेल, हावड़ा- अहमदाबाद एक्सप्रेस और जनशताब्दी एक्सप्रेस शामिल हैं। अन्य ट्रेनों के लिए यात्री कम है। लेकिन रिजर्वेशन हो रहा है। संभवतः यह आंकड़ा अभी और बढ़ेगा।

अनुमति लेकर पहुंचा रिफंड कराने

उसलापुर आरक्षण केंद्र में बिलासपुर जैसी स्थिति रही। मुंगेली के दो लोग टिकट कैंसिल कराने पहुंचे थे। उन्होंने भाटापारा से कानपुर के लिए रिजर्वेशन कराया था। शनिवार लॉकडाउन के कारण वे रिफंड के लिए विशेष अनुमति लेकर उसलापुर पहुंचे थे। लेकिन पीआरएस में रुपये खत्म हो गए। इसके बाद उन्हें लौटने के लिए कहा गया। लेकिन उन्होंने समस्या बताई। लिहाजा उन्हें बैठने के लिए कहा। इस दौरान रिजर्वेशन कराने पहुंचे लोगों से जो रकम प्राप्त हुई उससे रिफंड किया गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना