जांजगीर-चाम्पा। IAS Janak Pathak Case : दुष्कर्म के आरोपित आइएएस व पूर्व कलेक्टर जनक प्रसाद पाठक के मामले में नया मोड़ आ गया है। पुलिस उन्हें गिरफ्तार करने के बजाय उपस्थिति के लिए नोटिस देगी। इसके लिए टीम रायपुर जाएगी। इधर, पीड़ित महिला भी दो दिन गांव से गायब है। लिहाजा, पुलिस उसे मोबाइल की जब्ती कराने के लिए दो बार नोटिस दे चुकी है।

इस मामले में दुष्कर्म का अपराध दर्ज होने के बाद पुलिस पीड़ित महिला के मोबाइल को साक्ष्य के रूप में जब्त करना चाहती है। इसके लिए महिला को दो बार उसे नोटिस जारी किया जा चुका है। लेकिन, उसने अब तक मोबाइल जमा नहीं किया है। महिला के मोबाइल नहीं देने व उसके गांव में नहीं मिलने पर पुलिस ने दूसरा नोटिस गांव पहुंचकर उसके घर के सामने चस्पा किया है।

हालांकि, पुलिस का कहना है कि महिला अपने व्यक्तिगत कार्य से घर से बाहर थी। इसलिए वह गांव में नहीं मिली तो उसकी जेठानी से बयान लिया गया। इधर, पुलिस की टीम रविवार को रायपुर जाएगी और आरोपित पूर्व कलेक्टर को जांच अधिकारी के समक्ष पेश होने के लिए नोटिस देगी।

इस बहुचर्चित दुष्कर्म के मामले में पुलिस जांच कर रही है। पीड़ित महिला से साक्ष्य जुटाने पुलिस के सीआरपीसी की धारा 91 के तहत नोटिस जारी कर उसे मोबाइल जमा करने कहा गया। इसके साथ ही पुलिस ने कलेक्टोरेट परिसर में लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज की जांच की, जिसमें पीड़ित महिला नजर आ रही है और कलेक्टर कक्ष की तरफ जाते दिख रही है।

इस बीच पुलिस ने पूर्व कलेक्टर व आरोपित जनक प्रसाद पाठक को भी उपस्थित होने के लिए नोटिस जारी किया है। पुलिस कलेक्टर कक्ष व रेस्ट रूम की भी जांच कर चुकी है। पीड़ित महिला से साक्ष्य जुटाने पुलिस को नोटिस जारी करना पड़ रहा है। इससे माना जा रहा है कि महिला इस गंभीर मामले में पुलिस का सहयोग नहीं कर रही है।

यही वजह है कि वह साक्ष्य के तौर पर मोबाइल जब्त कराने के लिए तैयार नहीं है। पुलिस ने महिला के एक और मोबाइल को जब्त कर लिया है, जिसमें आरोपित पूर्व कलेक्टर जनक पाठक चेटिंग करते थे। उस मोबाइल को जब्त कर जांच के लिए साइबर सेल भेजा गया है। उसकी जांच में सभी तथ्य सामने आ जाएंगे।

स्व. सहायता समूह से जब्त किया रिकार्ड

पुलिस गांव पहुंची तो पता चला कि दुष्कर्म पीड़ित महिला रेडी टू ईट बनाने वाली महिला स्व सहायता समूह के लिए काम मांगने कलेक्टोरेट पहुंची थीं। पुलिस ने पूछताछ के बाद स्व सहायता समूह का भी रिकार्ड अपने कब्जे में ले लिया और समूह के सदस्यों व पीड़ित की जेठानी का भी बयान दर्ज किया है।

पीड़ित महिला व्यक्तिगत काम से घर से बाहर थी। इसके चलते उसे दूसरी बार धारा 91 के तहत नोटिस जारी कर उसके घर में चस्पा किया गया है। नोटिस के माध्यम से मोबाइल व जाति प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने कहा गया है। - पद्मश्री तंवर, एसडीओपी चांपा व जांच अधिकारी

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना