बिलासपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। करंट बुकिंग का समय बदल गया है। यात्री अब इस सुविधा का लाभ दो घंटे पहले ले सकेंगे। रेलवे ने इस सुविधा में डेढ़ घंटे की कटौती कर दी है। कोरोना वायरस के कारण यात्रियों की जांच को देखते हुए यह बदलाव किया गया है।

कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए मार्च में जनता कर्फ्यू के साथ रेल मंत्रालय ने भी सबसे पहले यात्री ट्रेनों का परिचालन बंद कर दिया। इससे पहले रेलवे ने यात्रियों को एसी में दी जाने वाली बेडरोल की सुविधा पर प्रतिबंध लगाया। अब ट्रेनों का परिचालन शुरू होने से यह सुविधा फिर से प्रारंभ हो गई है। हालांकि ट्रेनों में सीटों का आरक्षण पहले की तरह चार महीने पहले है। हालांकि करंट बुकिंग में बदलाव किया गया है। दरअसल रेलवे ने ट्रेन छूटने के डेढ घंटे पहले पहुंचने का नियम बनाया है। इस बीच यदि करंट बुकिंग के पुराने नियमों का पालन करते हुए आधे घंटे पहले यात्रियों को रिजर्वेशन की सुविधा प्रदान करता है तो उस स्थिति में यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग या अन्य जांच नहीं हो पाएगी।

0 जोन से चल रही हैं ये ट्रेनें

कोरोना काल में श्रमिक स्पेशल के साथ रेल मंत्रालय ने ट्रेनों का परिचालन शुरू किया है। इसके बाद राजधानी नई दिल्ली से 15 जोड़ी पुरानी राजधानी एसी कोच की एक्सप्रेस को दूसरे जोन के साथ बिलासपुर जोन के लिए भी चलाया गया। वर्तमान में हावड़ा से मुंबई, हावड़ा से अहमदाबाद अप-डाउन सप्ताह में तीन दिन, दुर्ग से अंबिकापुर एक्सप्रेस, रायपुर से कोरबा हसदेव एक्सप्रेस, दरभंगा से सिकंदराबाद एक्सप्रेस, कोरबा से विशाखापत्तनम एक्सप्रेस और गोंदिया-रायगढ़ जनशताब्दी एक्सप्रेस बिलासपुर स्टेशन से चल रही हैं।

प्रतीक्षा सूची के यात्रियों को प्रवेश नहीं

कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। ऐसे में यदि पहले की तरह प्रतीक्षा सूची या अन्य यात्रियों को प्रवेश दे दिया जाता है तो इससे न केवल भीड़ होने से वायरस का खतरा बढ जाएगा, बल्कि परेशानी चार गुना बढ़ जाएगी। इसे देखते हुए ही प्रतीक्षा सूची के यात्रियों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाया गया है।

क्या है करंट बुकिंग

यह तत्काल यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए रेलवे की बड़ी सुविधा है। सारे रिजर्वेशन होने के बाद भी जब कोई बर्थ खाली रह जाता है तब जरूरतमंद यात्रियों को यह दियाा जाता है। आधे घंटे पहले बुकिंग होने से यात्री अपातकाल स्थिति में यात्रा कर सकते हैं। इसमें कोई अतिरिक्त किराया भी नहीं लगता है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस