बिलासपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे 28 अक्टूबर से छिंदवाड़ा-हावड़ा के बीच किसान रेल सुविधा शुरू कर रही है। 18 कोच से चलने वाली इस ट्रेन का लाभ महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, ओडिशा और पश्चिम बंगाल के किसानों को मिलेगा। वे फल व सब्जियों को एक से दूसरी जगह पर भेज सकते हैं।

भारतीय रेलवे द्वारा किसानों की मदद करने तथा देशभर में कृषि उत्पादों की ढुलाई तेज करने के उद्देश्य से किसान रेल चलाई जा रही है। कृषि उत्पाद को देश के एक से दूसरे कोने तक आसानी से व न्यूनतम भाड़े के साथ पहुंचाया जाएगा। इसी के तहत दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे जोन ने छिंदवाड़ा से हावड़ा तक इस ट्रेन को चलाने का निर्णय लिया है। 00883 नंबर से चलने वाली किसान रेल छिंदवाड़ा से सुबह पांच बजे रवाना होगी। सौसर, सावनेर, इतवारी, गोंदिया , राजनांदगांव, दुर्ग , रायपुर रुकते हुए 20.40 बजे बिलासपुर पहुंचेगी। यहां से 21 बजे छूटेगी और 22.05 बजे चांपा, 23.10 बजे रायगढ़, एक बजे झारसुगुड़ा पहुंचेगी। इसका ठहराव राउरकेला, चक्रधरपुर, टाटानगर, खड़गपुर में भी दिया गया है। हावड़ा 12 बजे पहुंचेगी। 29 अक्टूबर को 15.00 बजे छूटेगी और 5.50 बजे बिलासपुर पहुंचेगी। जिन स्टेशनों में इसका ठहराव दिया गया है वहां किसान पार्सल चढ़ा व उतार सकते हैं। मालूम हो कि इस ट्रेन का लाभ अधिक से अधिक किसान ले सकें इसलिए सहायक वाणिज्य प्रबंधक एस भारतीयन और वाणिज्य निरीक्षकों की टीम मंडी जाकर किसानों व व्यापारियों के साथ बैठक कर उन्हें विस्तृत जानकारी भी दे रहे हैं।

भाड़े में 50 प्रतिशत छूट

किसान रेल सुविधा का लाभ अधिक से अधिक किसान ले सकें इसलिए सब्जी व फल परिवहन के भाड़े में 50 फीसद की रियायत देने का निर्णय लिया गया है। इसके अलावा पार्सल कार्यालय व मुख्य वाणिज्य निरीक्षक का नंबर भी जारी किया गया, ताकि उन्हें किसी तरह की असुविधा न हो।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस