बिलासपुर। जिला कोषालय के दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी से एक लाख 20 हजार की धोखाधड़ी के मामले में पुलिस ने तीन आरोपितों को झारखंड के देवघर और जामताड़ा से गिरफ्तार किया है। आरोपितों के कब्जे से 32 हजार नकद और स्कूटी जब्त की गई है।

एसपी प्रशांत अग्रवाल ने बताया कि सकरी थाना क्षेत्र के हांफा निवासी रमेश उपाध्याय ने 29 अक्टूबर 2019 को शिकायत दर्ज कराई थी। इसमें उन्होंने बताया कि 23 अक्टूबर 2019 की शाम उनके मोबाइल पर फोन आया था। फोन करने वाले ने खुद को बजाज फाइनेंस का अधिकारी बताकर बजाज कार्ड बनवाने का आफर दिया। इस पर कर्मचारी ने पहले से कार्ड होने की बात कही। कुछ देर बाद ठग ने फिर से फोन किया। उसने कहा कि एनिडेस्क एप डाउनलोड करने से कार्ड की पूरी जानकारी मिल जएगी। एप डाउनलोड करने के बाद कर्मचारी के खाते से पांच बार में एक लाख 20 हजार रुपये निकल गए। पीड़ित की शिकायत पर जुर्म दर्ज कर सिविल लाइन पुलिस जांच कर रही थी। इस दौरान पता चला कि आरोपित युवक झारखंड के अलग-अलग शहरों के रहने वाले हैं। इस पर साइबर सेल के उपनिरीक्षक मोहन भारद्वाज के नेतृत्व में टीम को झारखंड रवाना किया गया। झारखंड के जामताड़ा जिला स्थित कामाटांड और देवघर जिले के सिरसा के तीन आरोपितों की पहचान की। इसके बाद टीम ने झारखंड पुलिस के साथ घेराबंदी कर मिथुन कुमार मंडल(20 वर्ष) निवासी ठेंगाडीह, पोस्ट सिरसा, थाना पाथरोल जिला देवघर, जितेंद्र मंडल(19 वर्ष) निवासी कामांटाड, जिला जामताड़ा व राजेश रंजन(21 वर्ष) निवासी ठेंगाडीह, पोस्ट सिरसा, थाना पाथरोल जिला देवघर को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने आरोपित के कब्जे से 32 हजार नकद व स्कूटी को जब्त किया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस