बिलासपुर। राज्य सरकार व जिला प्रशासन के तमाम दावों के बाद भी धान खरीदी शुरू होने के एक दिन पहले केंद्रों में भारी अव्यवस्था की स्थिति रही। केंद्रों में टोकन लेने के लिए किसानों की भीड़ उमड़ पड़ी। कई केंद्रों में अब तक बारदाना नहीं पहुंचा है। इसके चलते किसानों को टोकन नहीं मिल पाया है। पहले दिन एक दिसंबर को जिले के एक सौ 85 टोकनधारी किसानों की धान की खरीदी की जाएगी। जबकि अब तक जिले में एक हजार नौ सौ 43 किसानों को टोकन दिया जा चुका है।

मंगलवार एक दिसंबर से धान खरीदी शुरू हो रही है। जिले के सभी धान खरीदी केंद्रों में टोकन लेने के लिए सोमवार सुबह से ही किसानों की भीड़ उमड़ पड़ी। शहर से लगे सेंदरी सहित आसपास के कई केंद्रों में टोकन के लिए किसानों में मारामारी की स्थिति थी। शहर से लगे लाखासार, गनियारी, सैदा व घुटकू पोड़ी समेत कई ऐसे केंद्र हैं, जहां अब तक बारदाना नहीं पहुंचा है। इसके चलते यहां के किसानों को टोकन नहीं मिल पाया है। इधर खरीदी केंद्रों में किसानों की भीड़ को देखते हुए राज्य शासन व प्रशासन ने केंद्रों में 24 घंटे टोकन वितरण करने के निर्देश दिए हैं। सोमवार को अवकाश होने के बाद भी कलेक्टर डा. सारांश मित्तर ने किसानों के लिए टोकन वितरण करने के निर्देश दिए थे। लेकिन ग्रामीण क्षेत्र के केंद्रों में केंद्र प्रभारी अवकाश के बहाने किसानों को खाली हाथ लौटा दिया।

केंद्रों में तैनात रहे प्रशासनिक अफसर

सोमवार को टोकन के लिए उमड़ी भीड़ के चलते मारामारी की स्थिति बन गई थी। ऐसे में हाालात को नियंत्रित करने के लिए खरीदी केंद्रों में प्रशासनिक अफसरों के साथ ही सुरक्षा व्यवस्था बनाने के लिए पुलिस बल लगाने की दरकार है। किसानों की भीड़ को देखकर इस दिशा में प्रशासन को गंभीरता से विचार करने की आवश्यकता है। ताकि किसानों को व्यवस्थाओं व सुविधाओं की जानकारी देकर भीड़ को व्यवस्थित व नियंत्रित किया जा सके।

शासन ने 24 घंटे टोकन वितरण करने दिए निर्देश

राज्य शासन के निर्देश पर धान खरीदी केंद्रों में टोकन का वितरण किया जा रहा है। इसके पहले केंद्रों में सुबह 9.30 बजे से शाम 5.30 बजे तक ही किसानों को टोकन दिए जा रहे थे। लेकिन खरीदी केंद्रों में किसानों की भीड़ को देखकर अब शासन व प्रशासन ने केंद्र प्रभारियों को 24 घंटे टोकन वितरण करने के निर्देश दिए हैं।

धान खरीदी पर एक नजर

जिले में पंजीकृत किसान - एक लाख पांच हजार

धान खरीदी केंद्र - 124

धान खरीदी का लक्ष्य - 47 लाख 60 क्विंटल

किसानों को दिए गए टोकन- एक हजार नौ 43

जिले में कुल बारदाने की आवश्यकता- एक करोड़

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस