बिलासपुर। बीते एक सप्ताह से सर्वर डाउन होने की वजह से आयुष्मान भारत व खूबचंद स्वास्थ्य सहायता योजना के तहत नए आयुष्मान कार्ड समय पर नहीं बन पा रहे हैं। इससे जरूरतमंद मरीजों का शासन की योजना के तहत समय पर उपचार नहीं हो पा रहा है। इसका सबसे ज्यादा खामियाजा गंभीर मरीजों को उठाना पड़ रहा है। पिछले एक सप्ताह से यह स्थिति बनी हुई है।

आयुष्मान भारत के नए कार्ड बनाने की जिम्मेदारी च्वाइस सेंटर को दी गई है। जहां पर निश्शुल्क कार्ड बना कर दिया जा रहा है। लेकिन कुछ दिनों से इसका सर्वर सही तरीके से काम नहीं कर पा रहा है। कुछ देर तक सामान्य रूप से चलने के बाद अचानक बंद हो जाता है। कई बार पूरी तरह सर्वर ठप हो जाता है। इसकी कोई वैकल्पिक व्यवस्था नहीं होने से रोजाना दर्जनों मरीज आयुष्मान से उपचार से वंचित हो रहे हैं। इस मामले में स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि इसकी जानकारी शासन स्तर पर दे दी गई है। जल्द ही समस्या दूर हो जाएगी।

अब भी साढ़े तीन लाख लोग योजना से बाहर

च्वाइस सेंटर के माध्यम से निश्शुल्क आयुष्मान कार्ड बनाया जा रहा है। अब भी जिले में साढ़े तीन लाख हितग्राही ऐसे हैं, जिनका कार्ड ही नहीं बन पाया है। जिन्हें अब कार्ड बनवाने में तकलीफ का सामना करना पड़ रहा है।

आधे से ज्यादा हो रहे वंचित

आयुष्मान कार्ड नहीं बन पाने से सिम्स पहुंचने वाले आधे से ज्यादा मरीज निश्शुल्क उपचार से वंचित हो जा रहे हैं। ऐसे में कई मरीजो को नकद में इलाज कराना पड़ रहा है। वही हाल जिला अस्पताल का भी है। जहां भी लगातार मरीज आयुष्मान के तहत उपचार से वंचित हो रहे हैं। आयुष्मान स्वास्थ्य योजना के जिला प्रभारी गिरीश दुबे का कहना है कि इसकी जानकारी शासन स्तर पर दी गई है। मुख्य सर्वर रायपुर से संचालित होता है। जल्द ही समस्या को दूर कर लिया जाएगा।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close