Bilaspur News: बिलासपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। अखिल भारतीय अंतर विश्वविद्यालयीन कराते महिला-पुरुष प्रतियोगिता में अटल बिहारी वाजपेयी विश्वविद्यालय एवं गुरु घासीदास केंद्रीय विश्वविद्यालय के खिलाड़ियों ने अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया है। स्पर्धा में एक स्वर्ण पदक सहित सात पदक जीता है। बेटियों ने सबसे अधिक पदक पर कब्जा किया है।

हरियाणा के खिलाड़ियों का दबदबा

प्रतियोगिता में पंजाब और हरियाणा के खिलाड़ियों का दबदबा रहा। वहीं, बिलासपुर के खिलाड़ियों ने भी पदक बटोरे। इसमें शुभम निषाद स्वर्ण पदक कुमिते पुरूष 60 किलो ग्राम, कुसुम धु्रव रजत पदक कुमिते महिला 55 किलो ग्राम, सुगम निषाद रजत पदक कुमिते पुरुष 67 किलो ग्राम, फिजा बानो रजत पदक, कुमिते महिला 68 किलो ग्राम एवं गुरु घासीदास विश्वविद्यालय की छात्रा स्नेहा बंजारे ने 68 किलोग्राम वर्ग में रजत पदक जीता। इसके अलावा टीम काता में अटल विश्वविद्यालय की तीन खिलाड़ी खुश्ाबू भास्कर, लखेश्वरी अनंत और सुषमा आनंद ने कांस्य पदक पर कब्जा किया।

खेल मानसिक विकास के लिए फायदेमंद: प्रो.पटेरिया

मुख्य अतिथि के रूप में शहीद नंदकुमार पटेल विश्वविद्यालय रायगढ़ के कुलपति प्रो एलपी पटेरिया ने खिलाड़ियों को संबोधित करते हुए कहा कि खेल भावना समाज में एकजुटता का संदेश देती है। शारीरिक विकास के साथ ही लक्ष्य को केंद्रित रखकर खेलना मानसिक विकास के लिए फायदेमंद होता है।

इनकी रही मौजूदगी

बीआर यादव इंडोर स्टेडियम बहतराई में भारतीय विश्वविद्यालय संघ के तत्वावधान में अखिल भारतीय अंतर विश्वविद्यालयीन कराते महिला-पुरुष प्रतियोगिता का समापन शनिवार को हुआ। मुख्य अतिथि के रूप में शहीद नंदकुमार पटेल विश्वविद्यालय रायगढ़ के कुलपति प्रो. एलपी पटेरिया, शहीद महेंद्र कर्मा विश्वविद्यालय बस्तर के कुलपति प्रो. मनोज कुमार श्रीवास्तव, अति विशिष्ट अतिथि के रूप में शासकीय जेपी वर्मा कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय के प्राचार्य डा. एसएल निराला उपस्थित थे। अध्यक्षता कुलपति आचार्य प्रो. अरुण दिवाकर नाथ वाजपेयी ने की। मंच पर आयोजन सचिव डा. सौमित्र तिवारी, प्रतियोगिता के संचालक डा. अजय सिंह, वरिष्ठ खेल अधिकारी डा. बसंत अंचल, अविनाश शेठ्ठी उपस्थित थे।

Posted By: Abrak Akrosh

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close