बिलासपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। इंजीनियर की आत्महत्या के मामले में सकरी पुलिस ने गुस्र्वार को सूदखोरों के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया है। इसके अलावा अरोपितों के खिलाफ कर्जा एक्ट के तहत भी मामला दर्ज किया गया है। आरोपित अपने ठिकाने से फरार हैं। पुलिस की टीम उनकी तलाश कर रही है।

सकरी क्षेत्र स्थित आसमां सिटी में रहने वाले ऋषभ निगम इंजीनियर थे। वे इलेक्ट्रानिक सामान की दुकान का संचालन करते थे। 16 सितंबर की सुबह उन्होंने अपने घर में जहर सेवन कर लिया। तबीयत बिगड़ने पर स्वजन उन्हें लेकर निजी अस्पताल गए। उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई। घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने स्वजन के कब्जे से छह पेज का सुसाइड नोट जब्त किया। इसमें ऋषभ ने सकरी के पार्षद अमित भारते, हांफा के सरपंच संदीप मिश्रा व व्यवसायी जितेंद्र के खिलाफ सूदखोरी और परेशान करने का आरोप लगाया था। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराया। इधर घटना के बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी। बुधवार को पुलिस ने ऋषभ की पत्नी श्रृति का बयान दर्ज किया। इसके अलावा स्वजन के भी बयान लिए गए। गुस्र्वार को पुलिस ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट व उपचार की जानकारी ली। गुस्र्वार की शाम पुलिस ने आरोपित अमित भारते, संदीप मिश्रा व जितेंद्र के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने व कर्जा एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है।

पुलिस ने की अपील

गुस्र्वार को पुलिस ने सूदखोरों के खिलाफ शिकायत करने की अपील की है। बिलासपुर पुलिस के फेसबुक पेज के माध्यम से सूदखोरों द्वारा परेशान करने पर संबंधित थाने में शिकायत करने को कहा गया है। इसके अलावा बिना लाइसेंस के कर्जा देने वालों से बचने कहा गया है। ब्याज के लिए परेशान करने वालों की शिकायत संबंधित थाने में करने अपील की गई है।

Posted By: Abrak Akrosh

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close