बिलासपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। नया मोटरयान अधिनियम शराब पीकर वाहन चलाने वालों को महंगा पड़ने लगा है। न्यायालय ने मंगलवार को शराब पीकर वाहन चलाने वाले आठ लोगों पर 10200-10200 रुपये जुर्माना लगाया है। नौ अगस्त से नया कानून लागू होने के कारण बढ़ा हुआ जुर्माना लगाया जा रहा है।

यातायात पुलिस ने रविवार की रात लिंक रोड से मंगला चौक तक शराब पीकर दोपहिया वाहन चलाने वालों के खिलाफ अभियान चलाया। इस दौरान मंगला निवासी अरुण यादव पिता जगदीश यादव, नितिन दास पिता तरन दास सिरगिट्टी, निलेश खांडे पिता आगर दास अमेरी, सुमेर सिंह पिता रघुनाथ सिंह अशोक नगर, धर्मेन्द्र यादव पिता देवीलाल लोखंडी, शिव कुमार पिता सरगना यादव सरकंडा, देवकुमार मैत्री पिता नरूलाल व सोनू केंवट पिता सुखलाल शराब पीकर वाहन चलाते पकड़े गए।

यातायात पुलिस ने मौके पर जुर्माना लेने के बजाय सभी के खिलाफ चालन काट कर मंगलवार को न्यायालय में उपस्थित होने का आदेश दिया। मंगलवार को सभी वाहन चालक जेएमएफसी कोर्ट में उपस्थित हुए। कोर्ट में पूछने पर सभी ने शराब पीकर वाहन चलाने की बात स्वीकार की। इस पर न्यायालय ने सभी पर 10200-10200 रुपये जुर्माना लगाया है।

नया मोटरयान अधिनियम की धारा 185 में शराब पीकर वाहन चलाने वालों को महंगा पड़ने लगा है। उल्लेखनीय है कि केन्द्रीय परिवहन मंत्रालय ने नए कानून को नौ अगस्त लागू किया है। इस कारण न्यायालय में पेश होने वाले प्रकरणों पर नए कानून के अनुसार जुर्माना लगाया जा रहा है।

शराब दुकान के आसपास नजर

पुलिस द्वारा शराब दुकान व चखना सेंटर के आसपास अभियान चलाया जा रहा है। यहां से शराब पीकर निकलते ही लोग जांच में फंस रहे हैं। कार्रवाई से शराब पीकर वाहन चलाने वालों में दहशत बढ़ने लगी है। पुलिस की अभी तक की कार्रवाई में सिर्फ दो पहिया वाहन चालक की फंस रहे हैं। चार पहिया व बड़े वाहन चालकों पर कार्रवाई नहीं हुई है।

Chhattisgarh : सुकमा में नक्सलियों का बड़ा जमावड़ा, पुलिस अलर्ट

बीजापुर में आठ लाख के इनामी नक्सली कमांडर ने किया आत्मसमर्पण