बिलासपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे मुख्यालय में जीएम गौतम बनर्जी ने तीनों डीआरएम समेत जोन के अफसरों के साथ समयबद्वता एवं संरक्षा बैठक ली। इसमें कोचिंग ट्रेनों की समयबद्वता का मूल्यांकन किया गया। तीनों रेल मंडलों समयबद्वता के सुधार को लेकर सतत प्रयास किए जा रहे हैं। सोमवार को समयबद्वता का प्रतिशत मेल एक्सप्रेस ट्रेनों का 91.89 प्रतिशत, कोचिंग ट्रेनों का 93.51 प्रतिशत रहा। समयबद्वता के इस प्रतिशत को कायम रखने एवं और अधिक विकास के प्रयास किए जा रहे हैं।

झारसुगुड़ा - नागपुर के मध्य औसत वृद्वि को और भी अधिक बढाने निर्देंश दिए गए। आज की इस संरक्षा बैठक में ट्रेनों के परिचालन के साथ ही साथ रेल लाइन, ओएचई तथा अन्य मरम्मत एवं रखरखाव कार्य को पूरा करने के लिए ब्लॉक के दौरान समय का भरपूर उपयोग करने एवं अधिक से अधिक आउटपुट प्राप्त करने के लिए कहा गया।

साथ ही साथ रेल परिचालन के लिए जुड़े तकनीकी कार्यों को निष्पादित करते समय नियमपूर्वक ही कार्य किए जाने की हिदायत दी। रेल परिचालन में मुख्य भूमिका निभाने वाले एवं रेल संरक्षा में महत्वपूर्ण स्थान रखने वाले क्रू कर्मचारियों को ड्यूटी के दौरान उपलब्ध कराए जाने वाली जरुरी सुविधाओं पर भी समीक्षा की गई।

तीहरी एवं चौथीकरण जैसी कई महत्वपूर्ण परियोजनाओं पर भी चर्चा की गई। इन कार्यो को निर्धारित समय पर पूरा करने के लिए जोर दिया गया। इसके अलावा संबंधित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए गए। बैठक में अधिकारियों के बीच यात्री सुविधा और रेल यातायात को सुव्यवस्थि करने को लेकर चर्चा की गई। अधिकारियों ने विभागीय अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए।

Posted By: Nai Dunia News Network