बिलासपुर। Bilaspur News: भारतीय किसान संघ ने कवर्धा घटना में निर्दोष लोगों की हो रही गिरफ्तारी को लेकर विरोध जताया है। संघ के पदाधिकारियों ने दोटूक कहा कि निर्दोष लोगों की रिहाई ना होने पर भारतीय किसान इस बार सड़क की लड़ाई लड़ेगा। प्रशासन की बंदिशों के बाद भी सड़क पर उतरेंगे पर पूरी जिम्मेदारी जिला प्रशासन की होगी। भारतीय किसान संघ के विरोध में उतरने के साथ ही जिला इकाइयों ने भी विरोध दर्ज कराना शुरू कर दिया है।

भारतीय किसान संघ बिलासपुर के जिलाध्यक्ष धीरेंद्र दुबे व जिला महिला प्रमुख चांदनी भारद्वाज ने कवर्धा घटना को लेकर रोष जताते हुए कहा है कि निर्दोष लोगों की धरपकड़ जारी है। इसी कड़ी में भारतीय किसान संघ के प्रदेश अध्यक्ष सुरेश चंद्रवंशी एवं उनके पुत्र को गिरफ्तार कर दुर्ग जिले केजेल में रखा गया है। कवर्धा की घटना से इनका कोई लेना देना नहीं है। जिस दिन गिरफ्तारी की गई दोनों पिता पुत्रअपने कृषि प्रतिष्ठान में बैठे हुए थे। छत्तीसगढ़ सरकार बदले की भावना को लेकर दमनात्मक कार्रवाई कर रही है।

कवर्धा की घ्ाटना को लेकर जो भी संगठन राज्य सरकार के खिलाफ आवाज उठा रहा है उनके आवाज को बंद करने का कार्य सरकार सुनियोजित तरीके से कर रही है जबकि किसान संघ गैर राजनैतिक संगठन है। जिलाध्यक्ष धीरेन्द्र दुबे, जिला महामंत्री सोनू तिवारी,जिला महिला प्रमुख चांदनी भारद्वाज एवं जिला कोषाध्यक्ष माधोसिंह ने इस घटना में प्रदेश अध्यक्ष की गिरफ्तारी की कड़े शब्द में निंदा की है। पदाधिकारियों ने भारतीय किसान संघ के प्रदेश अध्यक्ष एवं उनके पुत्र निश्शर्त रिहाई की मांग की है।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local