बिलासपुर। Bilaspur News: सीएमडी स्नातकोत्तर महाविद्यालय एवं रोटरी क्लब ऑफ बिलासपुर के तत्वाधान में वाद विवाद प्रतियोगिता रखी गई। प्रतियोगिता कॉलेज सभागार में हुई। इसका विषय युवाओं का पाश्चात्य करण क्या इनके भारतीय सांस्कृतिक आर्थिक राजनीतिक एवं शैक्षणिक विकास के सहायक है पर विभिन्ना महाविद्यालय से आए हुए प्रतिभागियों द्वारा पक्ष और विपक्ष में अपने विचार व्यक्त किए।

मुख्य अतिथि कुलपति आलोक चक्रवाल ने विकास के साथ मानव धर्म एवं समाज को साथ लेकर चलने की बात की। शिक्षा के साथ इन बातों का सामंजस्य होना चाहिए। कभी भी लक्षय सहज नहीं होना चाहिए लक्षय हमेशा कठिन होना चाहिए ताकि उन्हें हासिल किया जा सके।कार्यक्रम में मुख्य अतिथि प्रोफेसर आलोक चक्रवाल कुलपति गुरु घासीदास केंद्रीय विश्वविद्यालय एवं विशिष्ट अतिथि डॉक्टर सुधीर शर्मा कुलसचिव अटल बिहारी वाजपेई विश्वविद्यालय उपस्थित थे। कार्यक्रम की शुरुआत में महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं द्वारा सरस्वती वंदना एवं स्वागत गीत प्रस्तुत किया। इस दौरान मुख्य अतिथि कुलपति का स्वागत शासी निकाय के अध्यक्ष संजय दुबे एवं आशीष श्रीवास्तव अध्यक्ष रोटरी क्लब ऑफ बिलासपुर द्वारा किया गया।

विशिष्ट अतिथि का स्वागत डॉक्टर संजय सिंह प्राचार्य एवं हमीदा सिद्दीकी ने की। वाद विवाद प्रतियोगिता के निर्णायक मंडल में विवेक जोगलेकर, डॉक्टर गुलशन दास रहे। इस दौरान रोटरी क्लब के अध्यक्ष आशीष श्रीवास्तव ने कहा कि यह पहला अवसर है जहां केंद्रीय विश्वविद्यालय तथा अटल बिहारी विश्वविद्यालय के अधिकारी महाविद्यालय में सकारात्मक कार्यक्रम में उपस्थित हुए हैं। वहीं संजय दुबे ने केंद्रीय विश्वविद्यालय के कुलपति से महाविद्यालय को साथ लेकर शैक्षणिक सहयोग करने का अनुरोध किया।

विशिष्ट अतिथि डॉ सुधीर शर्मा ने कहा कि रोटरी क्लब एवं सीएमडी महाविद्यालय ने कोरोना काल के दो वर्ष बाद ऐसे कार्यक्रम करने की पहल सराहनीय है। उन्होंने कहा कि अब नए कुलपति के आने से क्षेत्र में केंद्रीय विश्वविद्यालय का सहयोग एवं लाभ महाविद्यालयों को मिलेगा। विशिष्ट अतिथि एसपी चतुर्वेदी ने कहा कि पिछले 20 वर्षों से रोटरी क्लब वाद विवाद प्रतियोगिता रही है। उक्त कार्यक्रम को सफल बनाने में सहयोग डॉक्टर कमलेश जैन, डॉ अंजलि चतुर्वेदी, राजकुमार पंडा एवं निकिता तिवारी, डॉ आर के सक्सेना ने सहयोग दिया।

प्रतियोगिता में अंकिता ने मारी बाजी

कार्यक्रम में 10 महाविद्यालय के 20 प्रतिभागियों ने अपनी बात तर्कों के माध्यम से की तथा पक्ष एवं विपक्ष दोनों में ही चर्चा जबरदस्त और उत्साह भरा रहा। अंत में निर्णायक मंडल के सदस्यों ने प्रतिभागियों को सही दिशा में बोलने की ट्रेनिंग भी प्रदान की। प्रतियोगिता में प्रथम अंकिता मरावी, द्वितीय अनामिका श्रीवास्तव, तृतीय मेघा मिश्रा एवं सांत्वना पुरस्कार भरत ललिता और नेहा को प्रदान किया गया। द्वितीय सत्र के मुख्य अतिथि डॉक्टर एसएल निराला ने मेडल वितरित कर प्रतिभागियों के लिए आगे भी सफलता की कामना की।

Posted By: sandeep.yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local