बिलासपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। गुरु घासीदास केंद्रीय विश्वविद्यालय के नवीन बाबा साहब आंबेडकर बालक छात्रावास में शाम के नाश्ते में कील मिलने के मामले में जांच अधिकारी ने रसोइयों को क्लीन चिट दे दी है। रिपोर्ट में कहा गया है कि यह नाश्ता तैयार करने के दौरान या आसपास लोहे की कोई चीज नहीं थी। साजिश के तहत किसी ने घटना को अंजाम दिया होगा। हॉस्टल के किसी छात्र ने लिखित शिकायत भी नहीं की।

गौरतलब है कि एक दिन पहले बाबा साहब भीमराव आंबेडकर बालक छात्रावास में शाम के नाश्ते में मुर्रा और चाय दिया गया, जिसमें छात्रों को मुर्रा के साथ एक जंग लगी हुई कील मिली। छात्रों ने तत्काल वार्डन से इसकी शिकायत कर कार्रवाई करने की मांग की। इस पर रजिस्ट्रार ने जांच अधिकारी भेजा था। व्यवस्था के मद्देनजर सीसीटीवी को दुरुस्त करने औररसोइयों को गंभीरता से ध्यान देने के निर्देश दिये हैं। फिलहाल किसी पर कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

केंद्री-धमतरी रेलवे लाइन के लिए 544 करोड़ जारी, ट्रैक उखाड़ने का काम अधूरा

Discount on Cars : अक्टूबर-दिसंबर में मिलने वाली कारों पर छूट सितंबर से