Bilaspur News: बिलासपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। शराब दुकान हटाने की मांग को लेकर धरने पर बैठे युवक पर गुरुवार की सुबह पेट्रोल पंप कर्मी ने हमला कर दिया। पंप कर्मी की इस हरकत के बाद आबकारी अधिकारियों के हाथ पांव फूल गए। गुरुवार की रात आबकारी के अधिकारी धरना स्थल पर पहुंचे। उन्होंने धरना दे रहे युवक और समाजसेवियों को समझाइश देकर धरना समाप्त करने कहा। साथ ही जल्द शराब दुकान हटाने पर निर्णय लेने की बात कही।

यदुनंदन नगर निवासी संजय सिंघानी सरकंडा के बंधवापारा स्थित देसी शराब दुकान को हटाने की मांग कर रहे हैं। इसके लिए वे चार दिनों से गांधी की वेशभूषा धारण कर धरना दे रहे हैं। उन्होंने खुद की चिता भी सजाई है। गुरुवार की सुबह पेट्रोल पंप कर्मी अनिल यादव ने बातचीत के दौरान संजय पर हमला कर दिया। इस दौरान वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने किसी तरह अनिल को काबू में किया। संजय की शिकायत पर हमलावर को गिरफ्तार किया गया है। घटना की जानकारी मिलते ही आबकारी विभाग के अधिकारी सकते में आ गए। गुरुवार की रात आबकारी के अधिकारी धरना स्थल पर पहुंचे। उन्होंने आंदोलनकारी संजय को समझाइश दी। साथ ही महिलाओं से बातचीत कर जल्द शराब दुकान हटाने का आश्वासन दिया है।

गुस्र्वार की सुबह वे धरने पर बैठे थे। इसी दौरान पेट्रोल पंप में काम करने वाला अनिल यादव वहां आया। उसने धरने पर बैठे संजय से बातचीत शुरू की। इसी बीच उसने गाली-गलौज करते हुए संजय को बेल्ट से मारने लगा। मारपीट के दौरान वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने किसी तरह हमलावर युवक को काबू किया। इसके बाद जवानों ने घटना की जानकारी थाने में दी। पुलिसकर्मियों ने हमलावर युवक को थाने भेज दिया। मामले की शिकायत पर पुलिस ने आरोपित युवक को गिरफ्तार किया है।

सामाजिक कार्यकर्ता संयज आयल सिंघानी प्रदेश में शराबबंदी की मांग को लेकर लगातार सक्रिय हैं। उन्होंने प्रदेश में शराबबंदी की मांग को लेकर शहर से राजधानी तक पैदल मार्च भी किया है। इसके अलावा उन्होंने लंबे समय तक गांधी चौक में प्रदर्शन किया है। इसका शहर के सामाजिक संगठनों ने समर्थन किया।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close