बिलासपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। यूएई के अबूधाबी में बिलासपुर की प्रीति चड्डा की मौत फांसी लगाकर आत्महत्या करने से हुई है। डॉक्टरों की टीम ने पीएम रिपोर्ट पुलिस को सौंप दिया है। अब प्रीति के पति सिंधु घोष की जानकारी लेने व साक्ष्य जुटाने पुलिस लेटर रोगेटरी भेजने की तैयारी में है। वहीं कोलकाता में आरोपित की पतासाजी करने के लिए पुलिस की टीम भेजी गई।

मुंगेली नाका निवासी वरिष्ठ पत्रकार प्राण चड्डा की बेटी प्रीति चड्डा (40) दुबई की एक कंपनी में काम करती थीं। बीते 23 जून को प्रीति की लाश अबूधाबी स्थित मकान में फांसी पर लटकी हुई मिली थी। इस मामले में दुबई पुलिस ने पोस्टमार्टम कराने के बाद शव को भारत भेजा। 28 जून को शव के बिलासपुर पहुंचने पर पुलिस ने परिजन की शिकायत पर मर्ग कायम कर सिम्स में शव का दोबारा पोस्टमार्टम कराया।

अद्भुत नजारा : जब बादल खींचने लगे तालाब का पानी, देखें VIDEO

एसपी प्रशांत अग्रवाल के निर्देश पर इस केस की जांच शुरू की गई। इस बीच पुलिस ने प्रीति के पिता प्राण चड्डा, बहन प्रिया चड्डा महाणिक और जीजा रोहित महाणिक का बयान दर्ज किया, जिसमें उन्होंने दहेज के नाम पर प्रीति को प्रताड़ित करने का आरोप लगाया।

Korba Murder : हत्या के बाद निर्वस्त्र अवस्था में महिला की लाश दफनाई

परिजन के बयान के आधार पर आरोपित सिंधु घोष के खिलाफ धारा 304 बी के तहत अपराध दर्ज किया गया। लेकिन, अब उसके खिलाफ आगे की कार्रवाई को लेकर पुलिस लगातार जिला प्रशासन, राज्य सरकार, विदेश मंत्रालय और गृह मंत्रालय से संपर्क कर रही है।

Ramayana Circuit : यहां से गुजरे थे प्रभु राम, अब पदचिह्नों की कथा बताएगा पर्यटन मंडल

कानूनी जानकारी जुटाने के बाद पुलिस अफसरों ने बताया कि इस मामले में दुबई पुलिस से दस्तावेजी जानकारी जुटाना जरूरी है। ऐसे में उन्हें अलग - अलग नियम खंगालना पड़ रहा है। दुबई पुलिस से संपर्क करने के लिए पुलिस को लेटर रोगेटरी जारी करनी पड़ेगी।

नवविवाहिता से दुष्कर्म, फिर शादी का झांसा देकर कराया तलाक, प्रेग्नेंट होने पर छोड़ा

इसके लिए राज्य शासन के गृह मंत्रालय के साथ ही केंद्र सरकार से अनुमति लेकर दुबई में भारत के दूतावास की मदद ली जाएगी। इसके लिए पुलिस ने प्रक्रिया शुरू कर दी है। इसके लिए पुलिस आरोपित सिंधु घोष के संबंध में जानकारी जुटा रही है। इसी के तहत उसका पासपोर्ट व वीजा की जानकारी जुटाने की कोशिश की जा रही है। इस बीच स्थानीय स्तर पर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। इसी सिलसिले में आरोपित की जानकारी जुटाने व पतासाजी के लिए पुलिस की टीम कोलकाता भेजी गई है।

लुक आउट सर्कुलर जारी

पुलिस अफसरों का कहना है कि आरोपित सिंधु घोष के वर्तमान में दुबई में होने की जानकारी है। लेकिन, पुलिस को उसका पता - ठिकाना तक नहीं मालूम है। कानूनन पुलिस उसकी गिरफ्तारी के लिए सीधे दुबई भी नहीं जा सकती। यही वजह है कि उसकी गिरफ्तारी के लिए लुक आउट सर्कुलर जारी कर दिया है। ताकि, भारत आते ही पुलिस को इसकी सूचना मिल जाए और उसी समय उसकी गिरफ्तारी हो सके।

मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया जाएगा परिजन का बयान व पीएम रिपोर्ट

जानकारों का कहना है कि इस मामले में बिलासपुर के मजिस्ट्रेट के माध्यम से अबूधाबी के मजिस्ट्रेट के बीच पत्राचार किया जाएगा। लेकिन, यह लंबी प्रकिया है। पहले बिलासपुर पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट व परिजन के बयान के आधार पर फाइल तैयार करेगी।

फिर उसे मजिस्ट्रेट के समक्ष प्रस्तुत कर आगे की कार्रवाई को लेकर रूपरेखा तैयार की जाएगी। मजिस्ट्रेट के जरिए राज्य सरकार व गृह मंत्रालय के साथ ही केंद्रीय गृह मंत्रालय से पत्राचार किया जाएगा और अनुमति ली जाएगी। इस मामले की केस डायरी का अध्ययन कर विदेश मंत्रालय से संपर्क किया जाएगा। इसके बाद विदेश मंत्रालय भारतीय दूतावास के जरिए संयुक्त अरब अमीरात के बीच की नीतियों का अध्ययन कर प्रकरण में आगे की कार्रवाई कर सकती है।