Bilaspur News: बिलासपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। भारत निर्वाचन आयोग ने युवा मतदाताओं को इस बार नई सुविधा दी है। साढ़े 17 वर्ष का होने के बाद आयोग के पोर्टल में अपना नाम दर्ज करा सकेंगे। जैसे ही 18 वर्ष के होंगे उनका नाम मतदाता सूची में शामिल हो जाएगा और मताधिकार के पात्र हो जाएंगे। आयोग की सुविधाओं का युवा लाभ भी उठा रहे हैं। मतदाता सूची में नाम जुड़वाने के लिए अब मतदाताओं को जिला निर्वाचन कार्यालय जाने की जरूरत भी नहीं है। आयोग ने आनलाइन सुविधा उपलब्ध करा दी है। इसके लिए आयोग के पोर्टल में मांगी गई जानकारी को भरना होगा। यह पहली बार होगा जब नवंबर में होने वाले विधानसभा चुनाव के कुछ दिन पहले भी 18 वर्ष की आयु पूरी करने वाले युवा जो आयोग की नजर में नए मतदाता हैं अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे। उस दौर में उनका नाम मतदाता सूची में प्रकाशित नहीं होगा।

आयोग की नई व्यवस्था के अनुसार ऐसे मतदाताओं का नाम ईआरओ नेट पर रहेगा। जैसे ही वे 18 वर्ष की उम्र पूरी करेंगे उनके नाम से मतदाता परिचय पत्र आयोग द्वारा जारी कर दिया जाएगा। नए मतदाताओं को आयोग की ओर से नई सुविधा दी जा रही है। आयोग की पुरानी व्यवस्था पर नजर डालें तो अब तक वही युवा या यूं कहें कि नए मतदाता वोट डाल पाते थे जो विधानसभा चुनाव के पांच महीने पहले मतदाता सूची पुनरीक्षण के दौरान 18 वर्ष की उम्र पूरी करते थे और अपना नाम मतदाता सूची में शामिल कराते थे। इसके लिए आयोग ने एक जनवरी 2018 की स्थिति में 18 वर्ष की उम्र का मापदंड तय कर रखा है। आयोग की इस नई व्यवस्था पर नजर डालें तो ऐसे युवा जो अक्टूबर में 18 वर्ष की उम्र पूरी करेंगे वे भी नवंबर में होने वाले विधानसभा चुनाव में अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे।

आधार लिंक कराना अनिवार्य

भारत निर्वाचन आयोग ने फर्जी वोटिंग को रोकने के लिए मतदाता सूची से आधार नंबर को लिंक कराने की अनिवार्यता रख दी है। आयोग को इस बात की भी शिकायत मिली है कि ऐसे भी मतदाता हैं जिनका नाम दो जगह की मतदाता सूची में शामिल है। ऐसे वोटरों को एक जगह से नाम विलोपित कराने की सुविधा भी दी जा रही है। तय समय सीमा के भीतर इनको अपना नाम एक जगह की मतदाता सूची से विलोपित कराना है और एक जगह अपना नाम रखना है। समय सीमा के बाद भी अगर एक जगह से अपना नाम विलोपित नहीं कराएंगे तो आयोग द्वारा अपने अनुसार एक जगह से नाम विलोपित कर एक जगह की मतदाता सूची में नाम शामिल कर लिया जाएगा।

गस्र्ड़ एप के जरिए पड़ताल

मतदाता सूची में जिन मतदाताओंे के नाम दो जगह की सूची में है इसके लिए आयोग ने गस्र्ड़ एप बनाया है। इस एप के जरिए दो या फिर अधिक जगह नाम वाले मतदाताओं की पहचान हो जा रही है। इनकी सूची बनाकर संबंधित जिला निर्वाचन कार्यालय को भेज दी जा रही है। बिलासपुर जिला निर्वाचन कार्यालय के अंतर्गत ऐसे मतदाताओं की संख्या 77 हजार 284 के करीब है। इनकी खोजबीन की जा रही है। भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार बुधवार को शासकीय,अर्धशासकीय व निजी कार्यालयों में कार्यरत अधिकारी व कर्मचारी शपथ लेंगे। इस दौरान मताधिकार का प्रयोग करने और लोगों को जागस्र्क करने की कसमें खाएंगे।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close