बिलासपुर।Bilaspur News: कोरोना संक्रमणकाल में निजी स्कूल प्रबंधन शैक्षणिक शुल्क में मनमानी तरीके से बढ़ोतरी कर रहे हैं। नगर विधायक शैलेष पांडेय ने पालकों द्वारा की जा रही शिकायत को लेकर स्कूल शिक्षा मंत्री डा.प्रेमसाय सिंह टेकाम से चर्चा की।

मंत्री ने बताया कि जल्द ही तीन स्तरीय नियामक समिति का गठन किया जा रहा है। समिति ने शैक्षणिक शुल्क में वृद्धि का निर्णय लेगी। स्कूल प्रबंधन को इस संबंध में मनमानी करने की छूट नहीं दी जा सकती।

स्कूल शिक्षा मंत्री डा.टेकाम ने नगर विधायक को बताया कि राज्य सरकार ने निजी स्कूल फीस विनिमयन विधेयक 2020 को बहुमत से पारित कर दिया था। पालकों की शिकायतों को दूर करने और शैक्षणिक शुल्क को नियंत्रित करने विधेयक लाया गया है। इस पर नियंत्रण रखने तीन समिति बनाई जाएगी।

इसमें एक समिति स्कूल स्तर पर, दूसरी जिला और तीसरी समिति राज्य स्तर पर बनाई जाएगी। अखबारों के माध्यम से भी लगातार शिकायत मिल रही थी कि निजी स्कूलों ने मनमानी करते हुए 30 प्रतिशत तक फीस बढ़ोतरी कर दी है जबकि आठ प्रतिशत तक ही फीस बढ़ोतरी का प्रविधान है।

कोरोना काल में लोगों के रोजगार चले जाने एवं आर्थिक समस्या उत्पन्न् होने के कारण पालकों ने इसकी शिकायत नगर विधायक पांडेय से की थी। इसे गंभीरता से लेते हुए विधायक पांडेय ने स्कूल शिक्षा मंत्री डा.टेकाम से इस संबंध में चर्चा की। मंत्री ने इस पर प्रभावी नियंत्रण का आश्वासन दिया है।

फीस नियामक समिति ही करेगी फीस निर्धारण

नगर विधायक ने कहा कि कई संगठन एवं अभिभावकों के द्वारा समय-समय पर अशासकीय विद्यालयों में फीस वृद्धि का विरोध करते रहे हैं।

लेकिन अब फीस नियामक समिति ही फीस निर्धारण करेगी जिससे छात्रों और पालकों को राहत मिलेगी मध्यम वर्गीय परिवार के पालक भी अपने बच्चों को अच्छे और बड़े स्कूलों में पढ़ा सकेंगे। राज्य सरकार ने जन भावनाओं को समझते हुए महत्वपूर्ण फैसला लिया है।

ऐसे बनेगी समिति

विद्यालय फीस समिति

विद्यालय प्रबंधन समिति का प्रमुख अध्यक्ष व कलेक्टर द्वारा नामांकित नोडल अधिकारी सदस्य, प्राथमिक से एक अभिभावक, पूर्व माध्यमिक एक अभिभावक, हाई स्कूल से एक अभिभावक एवं हायर सेकेंडरी स्कूल से एक अभिभावक सदस्य होंगे।

जिला स्तरीय फीस समिति

कलेक्टर अध्यक्ष होंगे। कलेक्टर द्वारा नामांकित एक लेखा अधिकारी अथवा कोषालय अधिकारी सदस्य, एक शिक्षाविद, एक कानून विद सदस्य होंगे।

इन्होंने कहा

निजी स्कूल प्रबंधन द्वारा संक्रमण के इस दौर में भी मनमानी तरीके से शैक्षणिक शुल्क में बढ़ोतरी की जा रही है। पालकों ने अपनी समस्या बताई थी। हमने स्कूल शिक्षा मंत्री तक पालकों की समस्या को रख दिया है। मंत्री ने नियामक समिति का जल्द गठन करने की बात कही है।

शैलेष पांडेय

विधायक,बिलासपुर विधानसभा क्षेत्र

Posted By: anil.kurrey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags