बिलासपुर। Bilaspur News: जिला स्तरीय जाति छानबीन समिति के फैसले को चुनौती देते हुए ऋचा जोगी ने हाई कोर्ट में दायर की है। कांग्रेस नेता संत कुमार नेताम ने ऋचा जोगी द्वारा मुंगेली तहसीलदार के कोर्ट से हासिल अनुसूचित जनजाति की प्रमाण पत्र को फर्जी बताते हुए कलेक्टर मुंगेली को पत्र लिखकर जांच की मांग की थी। कलेक्टर के निर्देश पर जिला स्तरीय छानबीन समिति ने ऋचा जोगी को नोटिस जारी कर दस्तावेज पेश करने कहा था। छानबीन समिति द्वारा जारी नोटिस को ऋचा ने हाई कोर्ट में चुनौती दी है।

याचिका में ऋचा ने बताया कि उनके पूर्वज 1950 के पूर्व से ही मुंगेली के पास रहते आ रहे हैं और सारे दस्तावेज में गोंड जाति का उल्लेख है। उनके पति अमित जोगी और ससुर स्व अजित जोगी मरवाही से विधायक रहे है। ससुर के निधन के कारण मरवाही सीट में उप चुनाव होने जा रहा है। विरोधी सत्तारुढ़ कांग्रेस पार्टी के नेता राजनीतिक दुर्भावना रखते हैं।

मरवाही चुनाव से लड़ने की सम्भावनाओ के चलते सरकार के इशारे पर जिला छानबीन समिति ने नोटिस जारी की है। आज उसने सात दिन का समय मांगा है। क्योंकि कुछ दस्तावेज जो पंजीयक ऑफिस में जमा है। आफिस के स्टाफ कोरोना पीड़ित होने के कारण जिला पंजीयक कार्यालय बंद है। ऋचा ने अपनी याचिका में कहा है कि ऐसा लग रहा है कि सत्तारूढ़ पार्टी उनकी जाति प्रमाण पत्र रद्द कर चुनाव लड़ने से रोकना चाहती है।

Posted By: Himanshu Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020