बिलासपुर। Bilaspur News: प्राथमिक शाला भवन पहंदा का निर्माण कार्य तीन साल बाद भी अधूरा पड़ा हुआ है। गुणवत्ता में लापरवाही के चलते यहां बच्चों की कक्षा नहीं लगाई जा सकी। छत का प्लास्टर अभी से उखड़कर गिरने लगा है। परिणाम स्वरूप पुराने शाला भवन में ही स्कूल संचालित हो रहा।

भवन निर्माण के लिए वर्ष 2018 में स्वीकृति मिली थी। यहां की शिक्षिका संध्या दिवाकर ने बताया कि भवन की कमी होने के कारण विभाग से नए स्कूल भवन किया गया था, पर निर्माण आज तक आधा अधूरा है। यहां पहली से पांचवीं तक 70 बच्चे दर्ज हैं। विकासखंड रामपुर अंतर्गत जिम्मेदार अधिकारियों की लापरवाही के कारण शासकीय योजना पर पानी फिर रहा है। भवन का निर्माण कार्य अधूरा पड़ा हुआ है, जिसका खामियाजा स्कूली छात्र-छात्राओं को भुगतना पड़ रहा है।

लाकडाउन में रुक गया था कार्य

सरपंच धनसिंह कंवर ने बताया कि शिलान्यास मद से नवीन प्राथमिक शाला भवन 2018 में स्वीकृति हुआ था, जो लाकडाउन की वजह से पूरा नहीं हो पाया। बहुत जल्द पूरा करके शिक्षा विभाग को दे दिया जाएगा। स्कूल की हालत अभी से जर्जर स्थिति में है, तो बनने के बाद स्कूल भवन की स्थिति क्या होगी यह समझना मुश्किल नहीं।

अतिक्रमण के चलते घट रहा शासकीय भूमि का रकबा

जांजगीर जिले के जैजैपुर विकासखंड अंतर्गत ग्राम पंचायत करौवाडीह के आश्रित ग्राम मुरलीडीह के ग्रामीणों ने तहसील कार्यालय जैजैपुर आकर तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा और गांव के कुछ दबंगों ने लगभग 80-100 एकड़ शासकीय भूमि पर अवैध कब्जा कर खेती करने का आरोप लगाते हुए अतिक्रमण हटाये जाने की मांग की हैं। ग्रामीणों का आरोप है कि गाँव मे शासकीय भूमि नहीं बची है जिसे गांव के विकास हो और गांव में बुनियादी सुविधाएं मिल सकें। छत्तीसगढ़ सरकार की महत्वाकांक्षी योजना नरवा,गरवा, घुरवा एवं बाड़ी योजना के तहत हर गांव में मवेशियों के लिये गोठान बना रही है ताकि गांव के मवेशियों को चारा मिल सके और उनकी देखभाल हो सके लेकिन ग्राम करौवाडीह के आश्रित ग्राम मुरलीडीह में कुछ दबंगों द्वारा सरकार की इस योजना को पलीता लगाने में कोई कसर नही छोड़ रहे हैं। इसके गांव का विकास कार्य भी प्रभावित होने लगा है।

Posted By: Himanshu Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस