बिलासपुर।Bilaspur News: रेलवे बोर्ड के आदेश पर जोनल स्टेशन में भी आरपीएफ व टीटीई बिना मास्क पहने यात्रियों को ढूंढ रही है। इस अभियान के दौरान दोपहर तक तो एक भी यात्री नहीं मिले। यह अच्छा भी है, क्योंकि संक्रमित होने की सबसे बड़ी वजह यही लापरवाही बन रही है। इस तरह की जांच आगामी छह महीने तक जारी रहेगी। स्टेशन के साथ- साथ ट्रेनों में भी ऐसे यात्रियों की जांच करनी है। इस दौरान सीधे 500 रुपये का जुर्माना भी किया जाएगा।

कोरोना की दूसरी लहर की चपेट में आकर बड़ी संख्या में लोग संक्रमित हो रहे हैं। इसके लिए कही न कही लोग खुद जिम्मेदार है। मास्क पहनने और दो गज दूरी के नियमों का पालन करने बार- बार दिशा- निर्देश दिया जा रहा है। इसके बाद भी पालन करने से कतराते हैं। नियमों के उल्लंघन का यह नजारा रेलवे स्टेशन व ट्रेनों में नजर आ रहा है।

इसे देखते हुए ही शनिवार को रेलवे बोर्ड ने सख्ती बरतनी शुरू कर दी है। इसी के तहत स्टेशन व ट्रेनों में प्रवेश करते समय चेहरे पर मास्क लगा होना अनिवार्य किया गया है। नहीं पहनने तथा कोई यात्री थूकते हुए दिखता है तो तत्काल उसके खिलाफ 500 रुपये जुर्माना किया जाएगा।

यह कार्रवाई आरपीएफ व टीटीई दोनों को कर सकते हैं। यह कार्रवाई रेलवे अधिनियम के अनुसार की जाएगी। सोमवार से जोनल स्टेशन में इसका पालन शुरू कर दिया गया। टीटीई मुख्य द्वार पर जांच करते नजर आए तो आरपीएफ हर प्लेटफार्म ऐसे यात्रियों की ढूंढती रही, जो मास्क नहीं लगाए थे।

हालांकि उन्हें जांच के दौरान दोपहर तक एक भी यात्री ऐसे नहीं मिले। इससे रेल अमला संतुष्ट भी नजर आया। यात्रियों में दहशत है और सभी मास्क लगाकर व सैनिटाइज रखकर यात्रा कर रहे हैं। यही सावधानी उन्हें संक्रमण से बचाएगी।

Posted By: anil.kurrey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags