बिलासपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। विजयदशमी पर्व को लेकर अब दो दिन ही शेष है। ऐसे में शहर की प्रमुख रावण दहन समितियों ने रावण की पुतले बनाने का काम शुरू कर दिया है। कोरोना महामारी की वजह से रावण के कद को छोटा किया गया था, लेकिन अब यह प्रतिबंध हट गया है। ऐसे में इस बार फिर दशानंद मजबूत कद-काठी में नजर आएंगे। विभिन्न् समितियों से मिली जानकारी के मुताबिक शहर में 30 से 70 फीट तक के रावण का वध होगा।

कोरोना महामारी की वजह से पिछले साल जिला प्रशासन ने ज्यादा से ज्यादा 15 फीट तक के रावण बनाने की अनुमति ही शहर की समितियों को दी थी। ऐसे में विजयदशमी समारोह फीका रहा था। लेकिन इस बार यह समितियों की यह बाधा खत्म हो गई है। ऐसे में पूरे उत्साह से रावण का पुतला बनाने का काम शुरू कर दिया गया है। ऐसे में पहले की सालों की तरह 30 से 70 फीट तक रावण तैयार किया जा रहा है। साफ है कि इस बार का विजयदशमी पर्व पूरे धूमधाम से मनेगा।

इन स्थानों पर नजर आएंगे बड़े दशानंद

पुलिस मैदान, पुराना बस स्टैंड चौक, लाल बहादुर शास्त्री मैदान, नूतन चौक सरकंडा, रेलवे एनएआई स्टेडियम, कुदुदंड ग्रीन पार्क मैदान, मिनोचा कालोनी, तिफरा, जूना बिलासपुर, प्रियदर्शिनी नगर मैदान, सकरी, उसलापुर, दयालबंद, हेमूनगर, राजकिशोर नगर आदि क्षेत्र मुख्य है।

जमकर होगी आतिशबाजी

दो साल तक विजयादशमी पर्व फीका रहा है। परंपरा को निभाने के लिए रावण दहन किया गया है। लेकिन इस बार किसी तरह की भी प्रतिबंध नहीं है। ऐसे में बड़े आकार के रावण के साथ ही जमकर आतिशबाजी करने का निर्णय समितियों ने लिया है। ऐसे में समारोह के दौरान आसमान पटाखों के रंगबिरंगे रंग से पटेगा।

Posted By: Abrak Akrosh

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close