बिलासपुर। Bilaspur News: कोरोना ने डीएलएस कालेज के चेयरमैन व कांगे्रस नेता बसंत शर्मा को पार्टी कार्यकर्ताओं व स्वजनों से हमेशा-हमेशा के लिए छीन लिया है। मंगलवार को उनकी तेरहवीं का कार्यक्रम था। बच्चों ने उनकी स्मृति को चिरस्थाई बनाने के लिए उनके सपनों का संसार डीएलएस कालेज परिसर में पौधारोपण किया है। तेरहवीं के दिन 13 फलदार पौधे रोपे।

कोरोना संक्रमण से संक्रमित होने के कारण कांगे्रस नेता बसंत शर्मा को नौ अप्रैल को अस्पताल में दाखिल कराया गया था। उनका आक्सीजन लेवल धीरे-धीरे कम हो रहा था। सांस लेने में तकलीफ की वजह से अपोलो अस्पताल में भर्ती कराया गया। इलाज भी चला। कोरोना से काफी संघर्ष किया। संक्रमण इतना ज्यादा बढ़ गया था कि वे बाजी हार गए और 25 अप्रैल की सुबह साढ़े छह बजे अंतिम सांस ली।

जैसे ही यह खबर अपोलो अस्पताल से बाहर निकली स्वजनों के साथ परिचितों, मित्रों व कांग्रेस के दिग्गज नेता अवाक रह गए। कोरोना संक्रमणकाल के मौजूदा दौर में मंगलवार को उनकी तेरहवीं थी। संक्रमण को देखते हुए स्वजनों ने मृतक भोजन का आयोजन काफी सीमित संख्या में किया था। ब्राह्मण भोज के अलावा स्वजन ही कार्यक्रम में शामिल हुए। घर के बच्चों ने पिता व चाचा की याद को चिरस्थाई बनाने की ठानी।

बड़ों को बताया कि वे पिता व चाचा की याद को जीवंत बनाए रखने के लिए उनके सपनों के संसार जहां वे सबसे ज्यादा समय देते थे और उनका सपना था कि प्रदेश के डीएलएस कालेज का नाम अकादमिक क्षेत्र में हो। उसी परिसर में उनकी याद में तेरहवीं के कार्यक्रम के बाद 13 फलदार पौधों का रोपण किया। पौधारोपण में पुत्र विनायक शर्मा, पुत्री आद्या व घर के सभी बच्चों ने हिस्सा लिया।

कालेज परिसर में श्रद्धांजलि दी गई

कालेज के स्टाफ ने स्व शर्मा की याद में कालेज परिसर में श्रद्धांजलि कार्यक्रम का आयोजन किया था। इस दौरान प्राध्यापकों व स्टाफ ने स्व. शर्मा को याद किया। डीएलएस कालेज के चेयरमैन बसंत शर्मा अपने अकादमिक स्टाफ के अलावा कार्यालयीन स्टाफ के साथ समान व्यवहार करते थे। यही कारण है कि श्रद्धांजलि सभा के दौरान उनके साथ बिताए पल को याद कर अकादमिक और कार्यालयीन स्टाफ के कर्मचारी रो पड़े।

बनाएंगे स्मारक

कालेज स्टाफ ने संस्थापक स्व. शर्मा की याद में कालेज परिसर में स्मारक बनाने का निर्णय लिया है। इस निर्णय से परिवार के सदस्यों को भी अवगत करा दिया है। परिवार के सदस्यों ने उनकी भावनाओं का सम्मान करते हुए भविष्य में स्व. शर्मा की स्मृति में स्मारक बनाने की बात कही है।

Posted By: Yogeshwar Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags