बिलासपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना टीकाकरण अभियान के तहत निश्शुल्क सतर्कता डोज अब भी लगाई जा रही है। शासन का निर्देश है कि जब तक वैक्सीन का स्टाक बचा है, उसे सतर्कता डोज के रूप में उपयोग करते हुए निश्शुल्क टीकाकरण किया जाए। मौजूदा स्थिति में स्वास्थ्य विभाग के पास वैक्सीन की 50 हजार डोज उपलब्ध है। ऐसे में आने वाले एक से डेढ़ सप्ताह तक निश्शुल्क सतर्कता डोज लगाई जा सकती है। स्वास्थ्य विभाग ने वंचित लोगों से सतर्कता डोज जल्द से जल्द लगवाने की अपील की है।

आजादी के अमृत महोत्सव के तहत कोरोना के सतर्कता डोज को 75 दिन के लिए निश्शुल्क किया गया था। 30 सितंबर को यह निश्शुल्क व्यवस्था खत्म हो चुकी है। लेकिन सभी सतर्कता डोज के लिए भेजे गए कोविशील्ड और कोवैक्सीन की डोज बची हुई है। हालांकि इनका उपयोग पहली और दूसरी डोज के रूप में भी किया जा सकता है। लेकिन शासन ने निश्शुल्क सतर्कता डोज के लिए कुछ और दिन की छूट दे दी है। शासन ने बचे हुए वैक्सीन का स्टाक खत्म होने तक सतर्कता डोज लगाने की अनुमति स्वास्थ्य विभाग को दे दी है। इधर जिले के नूतन चौक स्थित मुख्य कोल्ड सेंटर में लगभग 50 हजार डोज बची हुई है।

बिलासपुर में रेलवे कर्मी के मकान से सोने-चांदी के जेवर और नकदी पार, सोता रहा परिवार

स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक जितना स्टाक है उससे आराम से एक से डेढ़ सप्ताह तक सतर्कता डोज लगाई जा सकती है। इसलिए वंचित लोग इस समय का फायदा उठा सकते है। जैसे ही निश्शुल्क सतर्कता डोज को बंद किया जाएगा, एक डोज के लिए 385 स्र्पये खर्च करने होंगे। यह डोज चयनित निजी अस्पतालों में ही लगेगा। जिला टीकाकरण अधिकारी डा. मनोज सैमुअल ने जानकारी दी है कि आदेश के तहत सतर्कता डोज लगाई जा रही है। जल्द ही सतर्कता डोज लगना बंद हो सकता है। ऐसे में निश्शुल्क सतर्कता डोज का फायदा उठाना चाहिए।

Posted By: Abrak Akrosh

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close