बिलासपुर। शनिवार को भाजपा के बैनर तले प्रदेशभर के कार्यकर्ता आपातकाल काला दिवस मनाने के लिए जिला से लेकर मंडल कार्यालयों में एकजुट हो रहे हैं। प्रदेश भाजपा ने जिला शहर अध्यक्षों को भेजे परिपत्र में कहा है कि 25 जून 1975 को प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार द्वारा आपातकाल लागू कर देश में लोकतंत्र की हत्या की गई। आपातकाल में मानवाधिकारों का हनन, प्रेस की स्वतंत्रता पर प्रतिबंध, राजनैतिक दलों की गतिविधियों पर पाबंदी लगा दी गई थी। समस्त विपक्षी दलों के प्रमुख नेताओं को गिरफ्तार कर लिया गया था। आपातकाल के विरोध एवं लोकतंत्र के अधिकारों की रक्षा के लिए व्यापक आंदोलन हुआ। संपूर्ण देश मानवाधिकारों के हनन के लिए 25 जून को काला दिवस के रूप में मनाता है।

प्रदेश भारतीय जनता पार्टी की कार्य योजना अनुसार 25 जून आपातकाल काला दिवस पर बिलासपुर जिला मुख्यालय एवं मंडल स्तर पर प्रमुख नागरिकों की गोष्ठियां आयोजित कर आपातकाल की परिस्थिति एवं लोकतंत्र की रक्षा के लिए किये आंदोलन की चर्चा करेंगे। दोपहर बाद मीसाबंदियों का सम्मान समारोह का आयोजन किया जाएगा। उस समय के समाचार पत्रों की कटिंग, पत्र, पत्रिकाओं की फोटो प्रदर्शनी लगाई गई है।युवा पीढ़ी को आपातकाल की जानकारी देने वाले कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। छत्तीसगढ़ सहित अनेक प्रदेशों में सरकार द्वारा अभी लोकतंत्र हनन के प्रयास हो रहे है उनको समाचार पत्र, इंटरनेट मीडिया के माध्यम से उजागर किया जाएगा।

आज भी अनेक दल संवैधानिक संस्थाओं की अवमानना करते हैं उसे भी उजागर किया जाएगा आमजनों से चर्चा कर लोकतंत्र की रक्षा में तत्कालीन जनसंघ एवं भाजपा के योगदान की जानकारी दी जाएगी। इन कार्यक्रमों को जिला स्तर पर सम्पन्न् कराने के लिए टीम का गठन किया गया है। जिला एवं मंडल स्तर पर कार्यक्रम प्रभारी बनाए गए हैं

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close