Bilaspur Railway News: बिलासपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे जोन में 206 ट्रैक किमी रेल लाइन विद्युतीकरण का काम पूरा हो गया है। इस कार्य के पूरा होते ही 95 प्रतिशत लाइन में विद्युतीकरण हो गया है। अब केवल पांच प्रशित ही बाकी है। छिंदवाड़ा-नैनपुर के इस सेक्शन में विद्युतीकरण करने की योजना है। इस पर काम भी चल रहा है।

भारतीय रेलवे में ब्राडगेज नेटवर्क के विद्युतीकरण की योजना है। इस महत्वाकांक्षी योजना को लागू करने के लिए हर जोन प्रयास कर रहा है। इसमें दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे जोन भी शामिल है। इसकी नतीजा है कि वर्तमान वित्तीय वर्ष 2022-23 में माह अक्टूबर तक 206 ट्रैक किमी विद्युतीकरण का काम जोन में कर लिया गया। इस योजना से न केवल बेहतर ईंधन ऊर्जा का उपयोग होगा, बल्कि उत्पादन भी बढ़ेगा। ईंधन खर्च में कमी आएगी। इसके साथ ही मूल्यवान विदेशी मुद्रा की भी बचत होगी। यह महत्वपूर्ण है कि दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे सहित सभी जोनल रेलवे के सम्मिलित प्रयास से भारतीय रेल के इतिहास में 2021-22 के दौरान 6,366 रूट किमी का रिकार्ड विद्युतीकरण किया गया है।

इससे पहले 2020-21 में सबसे अधिक विद्युतीकरण 6,015 रूट किलोमीटर का हुआ था। अक्टूबर 2022 तक भारतीय रेल के ब्राडगेज नेटवर्क 65,141 रूट किमी में से 53,470 ब्राडगेज रूट किमी विद्युतीकरण किया गया है। यह कुल ब्राडगेज नेटवर्क का 82.08 फीसद है। इसी प्रकार अक्टूबर 2022 महीने तक दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के ब्राडगेज नेटवर्क 2380 रूट किमी से 2250 ब्राडगेज रूट किमी विद्युतीकरण किया गया है। कुल ब्राडगेज नेटवर्क का 95 फीसद है।

ये होंगे फायदे

- डीजल इंजन बतौर बिजली महंगा है। राजस्व की बचत होगी।

- परिचालन में दिक्कत होगी दूर। अभी बार-बार इलेक्ट्रिक व डीजल इंजन बदलने की झंझट रहती है। दोनों के चालक अलग- अलग होते हैं।

- पर्यावरण का नुकसान नहीं होगा।

- कम स्टाफ से ही होगा सुरक्षित परिचालन

- डीजल इंजन मेंटेनेंस का झमेला होगा कम।

क्या कहती है रेलवे

पूर्ण विद्युतीकरण दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे की महत्वपूर्ण परियोजना है। वर्तमान वित्तीय वर्ष में अप्रैल से अक्टूबर तक 206 ट्रैक किमी का विद्युतीकरण पूरा किया गया है। 100 प्रतिशत विद्युतीकरण का लक्ष्य पूरा करने का प्रयास किया जा रहा है। जल्द इसमें सफलता मिल जाएगी।

साकेत रंजन

सीपीआरओ, दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे जोन बिलासपुर

Posted By: Abrak Akrosh

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close